Agneepath Bharti : अग्निपथ सेना भर्ती पर क्यो गुस्साये है, प्रतियोगी छात्र जाने बडी वजह

सेना में भर्ती के लिये केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ गुरूवार को नौ राज्यों में कई जगह युवाओं ने जमकर हंगामा, तोड़फोड़ और आगजनी की। बिहार और हरियाणा में सबसे ज्यादा असर दिखा। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और जम्मू – कश्मीर में प्रदर्शन हुए।

AGNEEPATH BHARTI PROBLEM

Agneepath Bharti मे हंगामा क्यो

यूपी के कई जिलों में हंगामा —  यूपी में भी व्यापक विरोध – प्रदर्शन हुए। मेरठ में सैकडों युवा कमिश्नर कार्यालय को सामने पहुँच गए और सड़क पर हंगामा करते हुए जाम लगा दिया । इस दौरान उनकी पुलिस से नोकझोंक भी हुई । अलीगढ़ में युवाओं ने राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर बस में तोड़फोड़ करते हुए आगजनी का प्रयास किया ।

बिहार में सौ से अधिक गिरफ्तार — बिहार के कई जिलों में आगजनी और बवाल की खबरें सामने आई। यहां एक मालगाड़ी समेत छह ट्रेन में आग लगा दी गई। बसों पर पथराव और तोड़फोड़ किया गया ।

पुलिस को करनी पड़ी हवाई फायरिंग — हरियाणा के पलवल में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की पांच गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया । बेकाबू होते प्रदर्शनकारियों को संभालने के लिये पुलिस को हवा में फायरिंग करनी पड़ी। दिल्ली के नांगलोई रेलवे स्टेशन पर छात्रों ने ट्रेन को रोका।

Agneepath Bharti Benefit

वरीयता देंगे कई राज्य : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान , उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी , हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने युवा अग्निवीरों  को नौकरी में प्राथमिकता देने की बात दोहराई। युवाओँ को सरकारी नौकरियों में भी वरीयता दी जाएगी।

युवाओं की आपत्तियां

  • भर्ती के चार साल बाद वे क्या करेंगे
  • महज 6 माह की ट्रेनिंग से देश की सुरक्षा  कैसे कर सकते हैं
  • सेना में नौकरी पहले की तरह मिले
  • दो साल से बंद पड़ी भर्तियों को शुरू कराया जाए

केंद्र सरकार ने उम्र सीमा बढ़ाकर 23 साल की —  केंन्द्र सरकार ने देर रात बड़ा फैसला लिया। अग्निपथ योजना की आयुसीमा पहले साल के लिए 21 से बढ़ाकर 23 साल कर दी है । यानी अब 17.5 साल से लेकर 23 साल का कोई भी युवा इस योजना का हिस्सा बन सकेगा।

सरकार ने कहा- अफवाहों से दूर रहें. योजना के कई फायदे

चार साल तक कौशल के बाद 24 की उम्र का कोई व्यक्ति अन्य की तुलना में नौकरी पाने के लिए हमैशा बेहतर विकल्प होगा।

ग्रह मंत्रालय ने सेवा के बाद योग्य अग्निवीरों को सीएपीएफ और असम राइफल्स की भर्ती में प्राथमिकता देने की बात कही है

चार अग्निवीरों में से एक को सेना में पक्की नौकरी मिल जाएगी, करियर में अन्य जगह अवसर मिलने का अच्छा मौका रहेगा।

अग्निवीरों को 21 से 24 साल की उम्र के बीच 12 लाख की जमा राशि मिलेगी। इस आयु वर्ग में कितने लोग इतना धन जोड़ पाते है

यूपी, मध्यप्रदेश , उत्तराखंड, हरियाणा और असम ने अग्निवीरों को सेवा के उपरांत पुलिस एवं पुलिस के सहयोगी बलों में भर्ती करने की बात कही

अपने प्रश्न पूछे (1)
frontpage hit counter