Bijli Sankat Big News : ध्यान दें इन राज्यो मे फिर हो सकता है, बिजली संकट बहुत बडी खबर ध्यान दें

जैसा कि आपको पता है कि इस वर्ष गर्मी कितनी ज्यादा बढ़ी हुई है। और लाइट कटौती बहुत ही ज्यादा बढ़ी हुई है। लोग गर्मी बहुत ही ब्याकुल हो रहे हैं। ऐसे में बिना बिजली के बहुत ही दक्कतें आ रही  है। आज के समय में लाइट पर ही बहुत चीजें आधारित हैं। तो अगर बिजली नहीं होगी तो क्या होगा। जैसा कि पिछले महीनों से कोयले की कमी से बिजली में बहुत ही कटौती की गई है। परंतु कुछ हदतक कोयले की पूर्ती की गई थी। मगर जुलाई – अगस्त में फिर कोयले की कमी से बिजली प्रभावित हो सकती है। इससे सम्बन्धित पूरी जानकारी इसी पोस्ट के माध्यम से विस्तार से पढ़ें।

bijli sankat start

BIJLI SANKAT

आपको बता दें कि इस वर्ष गर्मियों में बिजली की कटौती बहुत ही ज्यादा की गई है। जिससे कि लोगों को काफी परेशानी भी हुई है। मगर काफी हद तक कोयले की स्टॉक की पूर्ती की गई, परंतु इस बार जुलाई और अगस्त में फिर से बिजली संकट गहरा सकता है। आपको बता दें कि मानसून से पहले बिजली संयंत्रों में अपनी जरूरत का कोयला स्टॉक जमा नहीं किया है। इससे जुलाई और अगस्त में देश बिजली संकट से गुजरेगा। सेंटर फॉर रिसर्च ऑन एनर्जी एंड क्लीन एयर (CREA) ने अपनी ताजा रिपोर्ट में यह दावा किया है।

BIJLI SANKAT होने का कारण

केंद्रीय ऊर्जा प्राधिकरण (CEA) के हवाले से कहा, अगस्त में देश में 214 गीगावाट बिजली की पीक डिमांड होगी। आज सभी पावर स्टेशनों पर 2.07 करोड़ टन कोयला उपलब्ध है। 1.35 करोड़ टन पिट हैड पावर स्टेशनों पर, लेकिन स्टॉक काफी नहीं है। दक्षिण – पश्चिम मानसून आने पर कोयला खदानों में पानी भरने से खनन और आपूर्ती प्रभावित रहेगी।

अगर ऐसे ही बिजली संकट बार – बार आएगा तो देश का क्या होगा। कोयले पूर्ती में अगर इसी तरह की बार – बार लापरवाही की जाएगी तो बिजली संकट बार – बार आएगा। अगर पहले से ही कोयले की पूर्ती मानसून से पहले की जाती तो बिजली संकट नहीं होती।

अपने प्रश्न पूछे
frontpage hit counter