Join Telegram GroupJoin Now
WhatsApp GroupJoin Now

घर बैठे 10 रुपए के सिक्के बनाकर बना करोड़पति जाने पूरा मामला

30 करोड रुपये वो भी 3 महीनो मे नकली सिक्को से जी हा दोस्तो आजतक आपने कई बार नकली नोटो के बारे मे सूना होगा पर आज हम ऐसी महीला के बारे मे बताने जा रहे है जो नकली सिक्के बनाकर करोडपति बन गई महिला इतनी शातिर निकली की जिसको पुलिस पकड नही सकती थी। क्योकी सिक्के सेम टु सेम एक जैसे दिखते थे जिससे कोई भी सक नही कर सकता है। तो इस पूरे मामले के बारे मे नीचे विस्तार से हमने बताया है, की आखिरकार कैसे एक महिला 30 करोड रुपेय कमा लेती है, वो भी 3 महीनो मे वो भी सिक्को से पूरी कहानी को विस्तार से पढे।

10 RUPES COIN EARN CROR
10 RUPES COIN EARN CROR

घर बैठे 10 रुपये के सिक्के बनाकर बना करोडपति

आपने पेपर मे न्यूज पढी होगी की नकली नोट पकडे गए, छापते पकडे गए तो आपको बता दु सरकार को ऐसे मे बहुत से लोग चुना लगा देते है, पर सिक्के भी नकली बनाकर करोडपति बन गई महिला। ऐसे ही मामला फरीदाबाद पुलिस ने एक पर्दाफाश किया, पुलिस के पास एक मुखबिर का फोन आया की फरीदाबाद के टोल पर गाडी रोज सिक्के लेकर आती है, पर मामला संगीन न लगा पुलिस ने इसपर नजर रखी जॉच जारी की पुलिस को यह तो स्पष्ट हुआ की रोज एक गाडी से रोज सिक्के आते थे।

मिली खबर के अनुसार कई दिनो तक फालो करने के बाद इक दिन पुलिस द्वारा गाडी की चेकिंग की गई जिसमे पुलिस को कई बोरो मे सिक्के मिले। पर वो नकली थे पर सिक्को को देखकर इसका अंदाजा नही लगाया जासका की यह नकली है, या असली।

पुलिस ने पकडा रैकेट

फिर इस पूरे रैकेट को ठुढने मे पुलिस ने जी जान लगा दी जिसमे महिला मुख्य थी वह आसपास के कई टोल नाको मे सिक्के सप्लाई करती थी जिसके बदले उसे कमीशन मिलता था इसके बदले उसे पैसे नोट मिलते थे। इतने दिनो मे किसी भी गाडी वाले को सिक्के नकली नही दिखे इसलिए कभी किसी ने कम्प्लेन नही किया। महिला सिक्के बनाने की पूरी फैक्ट्री बना रखी थी। इसमे 3 साथी काम करते थे। पूछताछ के बाद पता चला की यह काम 30 दिनो से किया जा रहा था जिसमे उन्होने कुल 10 करोड रुपये कमाए थे। पर अब वो पुलिस कि हिरासत मे है। सिक्के बनाने इनको 50 पैसे का खर्च आता था जिसके बाद वे 10 रुपये और 5 रुपये के सिक्के बनाकर पूरा खपा देते थे।

ध्यान दें : 10 रुपये, 20 रुपये और 5 रुपये के सिक्के की RBI ने कई सारे निर्देश दिए है, जिससे आप सही और गलत की पहचान कर सकते है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.