Electricity Bijli Bill Update : बिजली बिल वाले ध्यान दें ज्यादा आता है, बिल तो ये करें हजारो रुपये बचाए चुटकियो मे

Electricity Bill New Update : अगर आप बिजली उपभोगता हैं और आपने अपने घर में बिजली का कनेक्शन ले रखा है तो यह जानकारी विशेष तौर पर आपके लिए ही है। बहुत से बिजली उपभोगताओं की यह शिकायत रहती है। कि घरों इतनी ज्यादा बिजली की की खपत नहीं होती है और फिर भी बिजली बिल औसत से ज्यादा आता है। यह किस कारण से बिजली बिल इतना ज्यादा आता है। आज हम आपको इसी विषय के बारे में पूरी जानकारी बताएंगें। जिससे आप इस परेशानी से आसानी से निकल सकें। और आपको अपने घर में खपत होने वाली बिजली का बिज जमा करें न कि औसत से ज्यादा बिजली बिल जमा करें। इससे सम्बन्धित पूरी जानकारी विस्तार से पढ़ें।

bijli bill saving

Bijli Bill New Update

आपको बता दें कि अगर बिजली उपभोगता को बिजली बिल खपत के अनुसार ज्यादा आ जाता है तो लोगों को लगता है कि विद्युत विभाग ने ज्यादा बिजली बिल भेज दिया है। जिस कारण से हम ज्यादा बिजली बिल का भुगतान करना पड़ रहा है। तो आपको बता दें कि इसके और भी अन्य कारण भी हो सकते हैं, जिस कारण से आपका बिजली बिल ज्यादा आ जाता है। जिस पर आपका ध्यान नहीं जाता है और आपको लगता है। इस बार हमारा बिजली बिल गलत तरीके से निकाला गया है, या फिर बिजली के मीटर में भी कुछ कमी के कारण बिजली बिजली बिल ज्यादा आया है। तो जानते हैं कि इसके क्या कारण हो सकते हैं।

बिजली बिल अधिक होने पर ये करें

आपके बिजली मीटर में तकनीकी कारणों के कारण आपका बिजली बिल अधिक भरने की संभावना बहुत ही अधिक होता है। जिसके कारण आपके घर में लगे बिजली के मीटर में अधिक बिजली युनिट दर्शाता है जिसके कारण आपको अधिक बिल देना पड़ता है। और इसके अलावा दूसरा कारण यह भी हो सकता है कि आपके घर में ऐसे उपकरण का प्रयोग किया जा रहा है जो कि बहुत ही पुराना व अधिक बिजली खपत करता है जो आपकी जानकारी में नहीं परंतु बिजली की खपत करने मुख्य भूमिका उसकी हो। यह तमाम चीजों को सही तरीके जांचे और पता करें।

यदि आपको मीटर से सम्बन्धित किसी प्रकार की शिकायत दर्ज करानी है। तो आपको विद्युत विभाग के दिए गए हेल्पलाइन नंबर 1912 और टोल फ्री नंबर 1800-180-3002 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इसमें आपको किसी प्रकार का चार्ज नहीं देना होता है। आप आसानी से अपने समस्या का समाधान कर सकते हैं।

अपने प्रश्न पूछे
frontpage hit counter