Janmbhoomi e Paper| Janmbhoomi e paper Gujarati Daily Latest News

Janm Bhumi e Paper| Janm Bhumi E paper Gujrat News| Janm Bhumi Gujgrat News. Hello Friends, यदि आप भी गुजरात राज्य से सम्बन्धित हैं तो आपको जन्मभूमी ई पेपर के बारे में जनना अति आवश्यक हैं क्यों कि आज के समय में प्रत्येक इंसान News को पढने का आदि हो चुका है। यदि आप भी Gugrat राज्य से सम्बन्धित News को अपने Mobile में पढना चाहतें हैं तो आप इस Janm Bhumi e Paper के माध्यम से पढ सकतें है। तो पूरी जानकारी के लिए आप हमारे इस लेख को पढें।

Janmbhoomi e Paper

Janmbhoomi e Paper गुजरात राज्य का प्रसिद्ध  News Paper है  जो कि Gujrati Language में उपलब्ध होता है। Gujrat राज्य के जो भी Students सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहें है। उन्हे Daily News Paper को पढना चाहिए ताकि उन्हें Study से Repleted विभिन्न प्रकार की जानकारी मिल सकें।

About Janmbhoom e Paper

JanmBhoomi Paper की स्थापना भारतीय स्वतंत्रता सेनानी अमृतलाल शेठ ने की थी। शुरुआत में, अमृतलाल ने The Sun नामक एक English भाषा का पेपर बनाया, जिसका प्रदर्शन अच्छा नही था। 9 June 1934 को, अमृतलाल ने एक राष्ट्रवादी प्रकाशन के रूप में गुजराती में Janmbhoomi का Prakashan शुरू किया। यह पेपर गांधीवाद का समर्थन करता था और सनसनीखेज पत्रकारिता से बचने की नीति स्थापित करता था। यह पेपर आंदोलन का चेहरा बन गया था। काठियावाड़ रियासतों के उत्पीड़न के खिलाफ। बर्मा अभियान और भारतीय राष्ट्रीय सेना (आजाद हिंद फौज) से संबंधित News को Cover करके, कागज राष्ट्रीय स्तर पर पहुंच गया। 1979 में, अखबार ने प्रवासी नाम के तहत सुबह का संस्करण शुरू किया। Sunday को, अखबार के सुबह और शाम के संस्करणों को समेकित मास्टहेड जन्मभूमि प्रवासी के तहत एक साथ प्रकाशित किया जाता है।

इन्हे भी पढे-

तो दोस्तो कैसी लगी हमारी यह Janmbhoomi e Paper की पूरी जानकारी मुझे आशा होगी की आपको यह जानकारी बहुत ही अच्छी लगी होगी अगर आपको इसी सें सम्बन्धित और भी कुछ जानकारी चाहिए या फिर अन्य कोई भी जानकारी चाहिए तो नीचे दिए गए Comment Box कें माध्यम से सूचना दें सकते है। हम आपकी मदद जरुर करेगे। और उस जानकारी को जरुर ही लेकर आएगे।

error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें