Mineral Resources in India भारत के खनिज संसाधन PDF Download

Mineral Resource in India PDF Download, भारत के खनिज संसाधन Notes PDF Download. आज हम आपके लिए भारत के खनिज संसाधन से सम्बन्धित Notes PDF में लेकर आयें है। जिसे आप आसानी से Download कर सकतें है। हमारे द्वारा दी गयी इस PDF में बहुत ही सही तरीके से धातुओं तथा खनिजो के बारे में जानकरी दी गयी है। तो आप अगर भारत के खनिजों से सम्बन्धित पढ़ना चाहतें है। तो आप हमारे द्वारा दी गयी इस PDF को Download कर सकतें है।

bharat ke khanij sandhan notes pdf download

 What is mineral खनिज क्या है।

Note- नीचे दी गयी Link से आप Mineral Resources in India PDF Download कर सकतें है।

भू-वैज्ञानिकों के अनुसार खनिज एक प्राकृतिक रूप से विद्यमान समरूप तत्व है जिसकी एक निश्चित आंतरिक संरचना है। खनिज प्रकृति में अनेक रूपों में पायें जातें है। जिसमें कठोर हीरा व नरम चूना तक सम्मिलित है। खनिज इतने विविध क्यों है?

आप चट्टानों के विषय में पहले ही पढ़ चुकें है। चट्टानें खनिजों के समरूप तत्वों के यौगिक हैै। कुछ चट्टानें जैसे- चूना पत्थर- केवल एक ही खनिज से बनी है, लेकिन अधिकतर चट्टानें विभिन्न अनुपातों के अनेक खनिजों का योग है। यद्यपि 2000 से अधिक खनिजों की पहचान की जा चुकी है, लेकिन अधिकतर चट्टानों में केवल कुछ ही खनिजों की बहुतायत है।

एक खनिज विशेष जो निश्चित तत्वों का योग है, उन तत्वों का निर्माण उस समय के भौतिक व रासायन परिस्थितियों का परिणाम है। इसके फलस्वरूप ही खनिजों में विविध रंग, कठोरता, चमक, घनत्व तथा विविध क्रिस्टल पाये जातें है। भू- वैज्ञानिक इन्ही विशेषताओं के आधार पर खनिजो का वर्गीकरण करतें है।

Mineral Resources in India PDF Download in Hindi

ताँबा-

भारत में ताँबे का भंडार व उत्पादन क्रान्तिक रूप से न्यून है। तन्य और कुचालक होने के कारण ताँबे का उपयोग मुख्यतः बिजली के तार बनाने, इलैक्ट्रोनिक्स और रसायन उद्योगों में किया जाता है। मध्य प्रदेश की बाला घाट खदाने देश का लगभग 52 प्रतिशत ताबाँ उत्पन्न करती है। झारखंड़ का सिंहभूम जिला भी ताँबे का मुख्य उत्पाद है। राजस्थान की खेतड़ी खदानें भी ताँबे के लिए प्रसिद्ध है।

लोहा

भारत में लौह-अयस्क का भंडार विश्व में मात्रा एवं गुणवत्ता दोनो आधार पर सर्वोत्कृष्ट है। विश्व के कुल लौह भंडार का 10: भारत में है । भारत में पाये जाने वाले मुख्य लौह-अयस्क हेमाटाईट और मैग्नाटाईट हैं, जिनमें 60-70: तक लोहा मिलता है । इसलिए इनकी बहुत अधिक अंतर्राष्ट्रीय मांग है। देश के लगभग हर राज्य में लौह-अयस्क मिलता है । लेकिन 96: लौह-अयस्क सिंहभूम (बिहार), उड़ीसा के ओनझार, तालचर, बोनई और मयूरभंज में, छत्तीसगढ़ के बैलाडीला में तथा कर्नाटक और गोवा में मिलता है।

छत्तीसगढ़ के बैलाडीला और राजहरा के खानों से निकाला गया लौह अयस्क विशाखापट्टनम के बंदरगाह से जापान भेजा जाता है । कर्नाटक के दोनईमलाई और कुद्रेमुख के खानों से निकाला गया लौह-अयस्क मंगलोर के बंदरगाह से दूसरे देशों को निर्यात किया जाता है ।

भारत के खनिज संसाधन सम्बन्धित Notes PDF Download

बाक्साइट-

यद्यपि अनेक अयस्कों में एल्युमिनियम पाया जाता है। परन्तु सबसे अधिक एल्युमिना क्ले जैसे- दिखने वाले पदार्थ बॉक्साइट से ही प्राप्त होतें है। एल्युमिनियम एक महत्वपूर्ण धातु है क्यों कि यह लोहे जैसी शक्ति के साथ-साथ अत्यधिक हल्का एवं सुचालक भी होता है। इसमें अत्यधिक घातवर्धता भी पायी जाती है। भारत में बॉक्साइट के निक्षेप मुख्यतः अमरकंटक पठार, मैकाल पहाडियों तथा बिलासपुर-कटनी के पठारी प्रदेश में पाये जाते है।

सोना-

भारत में सोना खानों से भी मिलता है और रेत के कणों में भी बिखरे रूप में मिलता है । धारवाड़ के स्तरित चट्टानों वाले क्षेत्र में अधिकांश स्वर्ण-भंडार हैं । प्रतिवर्ष लगभग 10 क्विंटल सोना निकाला जाता है ।भारत में सोने के खान लार और हट्टी (रायचूर जिला) में हैं । ये दोनों खान कर्नाटक राज्य में हैं । कोलार (कर्नाटक) से निकला सोना भारतीय रिजर्व बैंक को बेचा जाता है । विश्व के गरीब देषों में से एक होने के बावजूद विष्व में सोने की सबसे ज्यादा खपत भागर में (विष्व का 26: तथा मात्रा की दृष्टि से लगभग 850 टन प्रतिवर्ष) होती है ।

अभ्रक-

अभ्रक एक ऐसा खनिज है जो प्लेटों अथवा पत्रण क्रम में पाया जाता है। इसका चादरों में विपाटन आसानी से हो सकता है। ये परतें इतनी महीन हो सकती है। कि इसकी एक हजार परतें कुछ सेंटीमीटर ऊँचाई में समाहित हो सकती है। अभ्रक पारदर्शी, काले, हरे, लाल, पीले अथवा भूरे रंग का हो सकता है। अभ्रक के निक्षेप छोटानागपुर पठार के उत्तरी पठारी किनारों पर पाये जातें है। बिहार- हजारीबाग पेटी अग्रणी उत्पादक है। राजस्थान के मुख्य अभ्रक उत्पादक क्षेत्र अजमेंर के आस-पास है। अांध्र प्रदेश की नेल्लोर अभ्रक पेटी भी देश की महत्वपूर्ण उत्पादक पेटी है।

चूना पत्थर-

चूना पत्थर कैल्शियम या कैल्शियम कार्बोनेट तथा मैगनीशिम कार्बोनेट से बनी चट्टानों में पाया जाता है। यह अधिकांशतः अवसादी चट्टानों में पाया जाता है। चूना पत्थर सीमेंट उद्योग का एक आधारभूत कच्चा माल होता है। यह अांध्र प्रदेश में 20 प्रतिशत, कर्नाटक में 30 प्रतिशत तथा अन्य कई राज्यों को मिलाकर 50 प्रतिशत पाया जाता है।

Bharat ke Khanij Sansadhan NotesPDF Download 

PDF महत्वपूर्ण जानकारी
Pages 16
PDF Size 949 KB
language Hindi

तो कैसी लगी आपको हमारी यह Mineral Resources in India भारत के खनिज संसाधन PDF Download” इसके बारे मे हमे  बताए तथा किसी प्रकार की अन्य नोट्स या जानकारी चाहिए तो नीचे कमेंट करके जरुर पूछे। तथा नीचे दिए गजरुरए Facebook, Whatsapp Button के माध्यम से इसे किसी अन्य को भी Share कर सकते है

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें