Advertisement

NIOS Board Kya Hai? NIOS Board से पढाई कैसे करें।

NIOS Board Kya Hai? NIOS Board में Admission Kaise pay। Hello Students अपने इस लेख में हम आपको NIOS Board के बारे में बतायेंगे की NIOS बोर्ड क्या है। इस Board कि जरूरत क्यों पडी आदि से सम्बन्धित पूरी जानकारी आपको इस लेख में पढने को मिलेगी। तो यदि आप भी NIOS Board के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहतें है। तो आप हमारे द्वारा दिये गये इस लेख को ध्यान से पढे।

NIOS Board Kya hai?

NIOS का फुल फार्म- National Institute of Opening Schooling  (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ ओपन स्कूलिंग) होता है। NIOS का प्रमुख उद्देश्य समाज के ग्रामीण या पिछड़े वर्ग के बच्चो व युवाओं को शिक्षा प्रदान करवाना हैं। तथा उन्हे एक अच्छे तौर तरीको से रूबरू करवाना होता है।

NIOS बोर्ड Secondary, Senior Secondary  व Vocational courses प्रदान करता है साथ ही यह Other Board Exam में फेल हुए छात्रों को On Demand Examination की सुविधा देता है।

National Institute of Opening Schooling (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ ओपन स्कूलिंग) NIOS भारत का एकमात्र ऐसा संस्थान है जहाँ पर ऐसें छात्र Admission लेते हैं। जो शिक्षा Easy Mode में पूरी करना चाहते हैं।

NIOS बोर्ड के माध्यम से छात्र अपनी शिक्षा पूरी कर बाकी शिक्षा बोर्ड के छात्रों की तरह अपनी आगे की पढाई कर सकते है। और अपना Carrier बना सकते है। NIOS Board, मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) द्वारा शुरू किया गया था, जिसका लक्ष्य समाज के ग्रामीण या पिछड़े वर्ग के बच्चो व युवाओं को शिक्षा प्रदान करना था जो स्कूलों के बिना ही सीख और पढ़ सकते हैं। अर्थात उन्हे School भी जाने की जरूरत नही होती है।

NIOS Baord दूसरे Board से Different क्यों है?

Advertisement

NIOS माध्यमिक, वरिष्ठ माध्यमिक और स्वैच्छिक शिक्षा के लिए एक Open Board के तौर पर छात्रों के लिए उपलब्ध है।जबकि CBSE, ICSE और State Board जैसे अन्य Board एक School Board का पालन करते हैं।

NIOS Board 10th और 12th कक्षा में Distance Education कार्यक्रम प्रदान करके औपचारिक शिक्षा का विकल्प प्रदान करता है।

Advertisement

NIOS Board Details in Hindi

NIOS (National Institute of Open Schooling) एक ऐसा शैक्षिक संगठन है जो मुक्त (Open) एवं दूरस्थ माध्यम (Distance learning) से शिक्षा प्रदान करता है और National Boards तथा केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) तथा भारतीय School Certificate Exam परिषद (Council for the Indian School Certificate Examination or CISCE) Boards के समकक्ष स्तर पर पूर्व-स्नातक स्तर (pre-degree level) तक के लिए परीक्षाएं आयोजित करता है और प्रमाणपत्र भी प्रदान करता है। जिसका मान्य हर जहग अन्य Board की ही तरह होता है।

NIOS: Tutor marked Assignment

ट्यूटर मार्कड असाइनमेंट (Tutor Marked Assignment)  TMA  Class 10th या Class 12th के स्तर पर नामांकित Syllabus द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले NIOS Assignment हैं। जिसके अंतर्गत छात्रों द्वारा चुने गए प्रत्येक विषय के लिए, तीन Assignment  होंगे, प्रत्येक Assignment 6 Questions पर आधारित होता है। छात्रों को मूल्यांकन के लिए आवंटित मान्यता प्राप्त संस्थान (AI) में सभी Assignment को पूरा कर Teachers/Tutor/coordinators को जमा करना अनिवार्य होता है।

Open and Distance Learning शिक्षा प्रणाली क्या है?

Open and Distance शिक्षा (ODL) स्व-अध्ययन सामग्री (SLM) और Students की गति के आधार पर सुविधाजनक तरीके से शिक्षा के अवसर उपलब्ध कराने की प्रवर्तनकारी संकल्पना है। इस माध्यम में, शिक्षार्थी को SLM (Self Learning Material) के अतिरिक्त PCP (Personal Contract Programme) और TMA (Tutor Marked Assessment) के रूप में शैक्षिक सहायता भी उपलब्ध कराई जाती है। इसे ही Open and Distance शिक्षा प्राणाली कहा जाता है।

Open Schooling and Regular Schooling शिक्षा व्यवस्था में क्या Different है?

Regular शिक्षा व्यवस्था एक नियत Time-Table के साथ Class प्रणाली की औपचारिक व्यवस्था में आमने-सामने की एक परम्परागत शिक्षा व्यवस्था है। जबकि Open Schooling शिक्षा शिक्षार्थी की स्व-अध्ययन एक सुविधाजनक विधि से कराने और उसकी तैयारी के अनुसार मूल्यांकन की पद्धति है।

Open शिक्षा प्रणाली उन शिक्षार्थियों के लिए अत्यंत उपयोगी है जो आर्थिक, सामाजिक या भौगोलिक कारणों से औपचारिक शिक्षा प्राप्त नहीं कर पातें हैं। या किसी प्रकार का काम (रोजगार) करने के साथ-साथ शिक्षा भी प्राप्त करना चाहते है। Open Schooling Education में सबसे सही तो यह होता कि आप अपने काम को करने के साथ आप Education भी ग्रहण कर सकतें है।

Must Read-

 NIOS के प्रमुख कार्य

  • देश के ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों को औपचारिक शिक्षा प्रदान करने के लिए NIOS Board का गठन किया गया है।
  • इस Board का प्रमुख उद्देश्य  यह है कि आर्थिक स्थित से कमजोर Students शिक्षित हो।
  • इस Board का यह भी प्रमुख उद्देेश्य है जो Students पढने में कमजोर है। और वे अपने Board से Exam को पास नही कर पातें है। तो इस Board से वो पास हो जातें है।

NIOS Board से पढाई कैसे करे?

NIOS Board में Students  Class 1st से लेकर Class 8th तक की शिक्षा मूल रूप से पूरी कर सकते है। और इसके साथ-साथ Class 10th तथा Class 12th में व्यावसायिक पाठ्यक्रमों (vocational courses) से अपनी शिक्षा पूरी कर सकते हैं।

Advertisement

माध्यमिक और वरिष्ठ माध्यमिक स्तर तक की शिक्षा के लिए, NIOS Students के लिए अपनी पसंद के Syllabus, सीखने की गति, और CBSE से अपने Mark Transfer करवाने के लिए Students के लिए सुविधा प्रदान करता है। यह सुविधा सभी अन्य राष्ट्रीय /राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड और Government Open School के लिए भी प्रदान करता है। इसी प्रक्रिया के द्वारा आप NIOS Board से Study कर सकतें है।

दोस्तों यदि आपको NIOS Board से सम्बन्धित कुछ अन्य जानकारी चाहिए तो आप हमसे Comments के माध्यम से पूँछ सकतें है। यदि इस लेख से सम्बन्धित कुछ अन्य जानकारी चाहिए जिसे हमने यहाँ पर न दी हो तो इसके लिए आप हमें जरूर Comments करें।