Advertisement

संज्ञा Sangya in Hindi परिभाषा और भेद Noun in Hindi (हिन्दी व्याकरण)

Sangya Kise Kahte Hai संज्ञा किसे कहतें है? संज्ञा के भेद कितने होते है। आदि से सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी के लिए हमारे इस Sangya लेख को पढें। हमने अपने इस लेख में संज्ञा Sangya in Hindi संज्ञा कि पूरी जानकारी (हिन्दी व्याकरण) बहुत ही साधारण शब्दो में लिखा गया है। Students हम आपको बता दें कि यहाँ पर हमने जो उदाहरण लिखे है। वो बहुत ही महत्वपूर्ण है। तो आप हमारे इस लेख को ध्यान से पढें और याद करलें यह Sangya in Hindi के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होगा।

Sangya aur iske bhed

संज्ञा Sangya in Hindi

संज्ञा – अर्थात नामः यह भी कहा जा सकता है कि किसी का नाम ही उसकी संज्ञा है, इससे ही वह जाना जाता है। किसी व्यक्ति, वस्तु स्थान या भाव के नाम को भी संज्ञा कहते है।

जैसे- राम, श्याम, भारत, जापान, मेज, कुर्सी, कलम, होली, दिवाली, गंगा, यमुना पूरब, पश्चिम इत्यादि।
उदाहरण- दिन निकला आया। पक्षी चहचहाने लगे। आकर्षक विद्यालय जाने की तैयारी करने लगा। सूर्य की रोशनी से उपवन को सौन्दर्य खिल उठा।

Sangya Ke Bhed संज्ञा के भेद

Advertisement

sangya ki paribhasa

Recommended Testbook

20+ Free Mocks For RRB NTPC & Group D Exam Attempt Free Mock Test
10+ Free Mocks for IBPS & SBI Clerk Exam Attempt Free Mock Test
10+ Free Mocks for SSC CGL 2020 Exam Attempt Free Mock Test
Attempt Scholarship Tests & Win prize worth 1Lakh+ 1 Lakh Free Scholarship

संज्ञा तीन प्रकार की होती है लेकिल कुछ विद्वानों नें 5 प्रकार के भेद को स्वीकार किया है। जो इस प्रकार है-

Advertisement

  1. व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun)
  2. जातिवाचक संज्ञा (Common Noun)
  3. भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun)
  4. द्रव्यवाचक संज्ञा (Material Noun)
  5. समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun)

व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun)

जिस शब्द से किसी एक वस्तु या व्यक्ति को बोध हो तो उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते है। जैसे- 
  • व्यक्तियों के नाम– विवेकानन्द, भगत सिंह, सुभाष चन्द्रबोष, बालगंगाधर तिलक, राम श्याम।
  • समुद्रो के नाम– प्रशान्त महासागर, हिन्द महासागर, काला सागर, भूमध्य सागर।
  • दिशाओं के नाम– पूर्व, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण।
  • देशों के नाम– भारत, अमेरिका, चीन, बर्मा, पाकिस्तान
  • राष्ट्रीय जातियों के नाम– भारतीय, जापानी, अफगानी, रूसी, अमेरिकी।
  • पर्वतों के नाम– हिमालय, विन्ध्याचल, अलकनन्दा, कराकोरम।
  • नदियों के नाम– गंगा, यमुना, कृष्णा, कावेरी, सिन्धु, बोल्गा।
  • नगरों, चौंको और सड़को के नाम– अशोक मार्ग, वाराणसी, इलाहाबाद, चाँदनी चौक, बन्द रोड़, बैंक रोड़।
  • पुस्तकों के नाम– रामचरितमानस, ऋग्वेद, सामवेद इत्यादि।
  • ऐतिहासिक युद्धों और घटनाओं के नाम– अक्टूबर-क्रान्ति, पानीपत की लडाई, सिपाहि विद्रोह।

जातिवाचक संज्ञा (Common Noun)

वे शब्द जिनसे एक ही जाति का अथवा प्राणियों, वस्तुओं, स्थानों का बोध हो तो, उन्हें जातिवाचक संज्ञा कहते है। जैसे-

  • सम्बन्धियों, व्यवसायों पदों और कार्यो के नाम– माता, पिता, भाई, बहन, मंत्री, टीचर, चोर, नाई, ठग।
  • प्राकृतिक तत्वों के नाम– वर्षा, बिजली, ज्वालामुखी, आंधी, भूकम्प।
  • वस्तुओं के नाम– कम्प्यूटर, कुर्सी, मेज, पुस्तक, कलम, मकान।
  • पशु-पक्षियों के नाम– गाय, भैंस, बैल, घोड़ा, कौआ, तोता, मैना।

भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun)

जिन संज्ञा शब्दों से किसी वस्तु, स्थिति, भाव और दाय आदि का पता चलता है तो उन्हे भाववाचक संज्ञा कहते है। जैसे-

  • क्रिया से– घबराहट, सजावट, दौड़, चढाई, बहाव, मारना।
  • विशेषण से– कठोरता, मिठास, गर्मी, सर्दी, चतुराई इत्यादि।
  • सर्वनाम से– अपनापन, ममता, ममत्व, निजत्व।
  • जातिवाचक संज्ञा से– बुढापा, लड़कपन, मित्रता, दासत्व, पण्डिताई इत्यादि।
  • अव्यय से– वाहवाही, शाबाश, दूरी, समीप्य इत्यादि।

द्रव्यवाचक संज्ञा (Material Noun)

जिन संज्ञा शब्दो से किसी  द्रव्य या पदार्थ का बोध हो तो उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते है। द्रव्यवाचक संज्ञाओं को गिना नही जा सकता, उनका केवल माप-तौल ही होता है। जिन संज्ञा शब्दो में केवल माप-तौल वाली वस्तुओं का बोध होता है उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते है।

जैसे- दूध, दही, पनीर, तेल, सोना, चाँदी, आदि।

समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun)

जिन संज्ञा शब्दों से किसी समूह का बोध होता है तो उसे समूहवाचक संज्ञा कहते है।

Advertisement

जैसे – सेना, टोली, भीड़, मण्ड़ली, गिरोह, काफिला, सभा इत्यादि।

नोटयह सभी को एक इकाई में व्यक्त करने के कारण एकवचन प्रयुक्त किये जाते है।

Students, हमारी यह Post “संज्ञा-(Noun) कि पूरी जानकारी (हिन्दी व्याकरण)”आपको कैसी लगी लगी आप हमें Comment के माध्यम  से आप बता सकते है। और जो कुछ भी आप को और जरूरत हो इसके लिए भी आप हमें Comments कर सकते है।

Related Post