Scholarship NEWS : इन छात्रो को पढाई के लिए सरकार देगी 2 लाख की स्कालरशिप जल्द उठाए फायदा

जिन छात्रो नहीं मिल रही है छात्रवृत्ति (Scholarship) को लेकर बड़ी अपडेट निकल कर आई है। अगर आप भी स्टूडे़ंट हैं तो आपको यह पता होना बहुत ही आवश्यक है। क्योंकि आपको बता दें कि IIT Student को नहीं मिल रहा है छात्रवृति, जिससे छात्र छात्राओं को फीस जमा करने में परेशानी हो रही है। इसका मुख्य कारण है। IIT Collage जो कि छात्रों की फीस को तक करने में कर रहे हैं आनाकानी जिससे छात्रों के छात्रवृत्ति नहीं मिल पा रही है। इससे सम्बन्धित पूरी जानकारी विस्तार से इसी पोस्ट के माध्यम से विस्तार से पढ़ें।

scholarship big news

Scholarship NEWS

आपको बाते दें कि बिहार राज्य के 2 लाख से अधिक छात्रवृत्ति से वंचित हैं। इसका कारण है कि श्रम संसाधन विभाक के अधिकारियों के द्वारा फिस नहीं तय किए जाने के कारण छात्रों को छात्रवृत्ति नहीं मिल रही है। और इसका एक कारण यह भी है कि वह छात्रों से ज्यादा फीस वसूल रहे हैं। जिससे वह अभी तक रिपोर्ट नहीं तैयार की है। और छात्रों को फीस भी ज्यादा जमा करना पड़ रहा है। और उन्हें छात्रवृत्ति नहीं का भी लाभ नहीं प्राप्त हो रहा है। जिससे छात्रों को ज्यादा फीस चुकानी पड़ रही है।

यह कम आय वर्ग वाले छात्र हैं जो कि ज्यादा से ज्यादा छात्रवृत्ति पर निर्भर रहते हैं। और इस तरह वह छात्र छात्रवृत्ति से वंछित रहने के कारण उनकी प्रशिक्षण में बाध उत्पन्न होने कारण से वह अपनी पढ़ाई को लेकर काफी चिंत्तित हैं। राज्य भर में कम से कम 12 सौ से अधिक सरकारी और प्राइवेट आईआईटी कॉलेज मौजूद है। और यहां से 4 लाख से अधिक छात्र प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।

Scholarship For IIT Collage

आपको बता दें कि अगर राज्य के जितने भी IIT Collage वह अपनी फीस को लेकर रिपोर्ट तय कर देते हैं। तो छात्रों को छात्रवृत्ति को लेकर काफी राहत मिल जाएगी। यह छात्रवृत्ति केंद्र और राज्य सरकार के द्वारा दी जाती है। इसमें केंद्र सरकार की तरफ से 60 प्रतिशत छात्रवृत्ति और राज्य सरकार की तरफ से 40 प्रतिशत छात्रवृत्ति प्रदान किया जाता है। और अगर इसी प्रकार से विलंम्ब किया जाएगा, तो छात्रों के पढ़ाई न प्रशिक्षण के लेकर काफी परेशानी हो सकतीहै।

सूत्रों के मुताबिक राज्य के प्राईवेट आईआईटी संध के महासचिव ने बताया है कि उन्हों ने राज्य सरकार से निवेदन किया है। कि वह कॉलेजों की फीस को तय करें। और जब तक छात्रों को लाभ नहीं प्राप्त होगा। आपको बता दें कि और भी राज्यों नें अपने राज्य के आईआईटी कॉलेजो की फीस तय कर दी है। जिससे वहां के छात्रों को छात्रवृत्ति का लाभ प्राप्त हो रहा है। इन राज्यों में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिसा और महाराष्ट्र है। यहां छात्रों को छात्रवृत्ति का लाभ बराबर मिल रहा है।

अपने प्रश्न पूछे
frontpage hit counter