Scholarship Online Form : कक्षा 8 से 12 तक के छात्रो को 12,000 सलाना स्कालरशिप तुरन्त करें ये काम

छात्रवृत्ति के लिए जल्द करे आवेदन सरकार द्वारा नये नियमो के आधार पर भरा जाएगा फार्म सरकार द्वारा जो यह नियम लागू किया गया है । वह कुछ इस तरहा है कक्षा 8 से लेकर कक्षा 12 तक के बच्चो को प्रति माह दिया जाएगा एक-एक हजार रूपये य तो प्रतिवर्ष 12 हजार रूपये छात्रवृत्ति दी जाएगी । जो इस बार कुछ  बच्चो का छात्रवृत्ती नही आइ है वह इसलिए नही आइ है कि कुछ बच्चो ने  आय सीमा मे कुछ ज्यादा था इसलिए नही आई है । और कुछ ऐसे जरूरी दस्तावेज नही लगाए थे तो इसी कारण से बच्चो के छात्रवृत्ति नही आइ थी तो चलिए दोस्तो आज हम इस लेख कि मदत से आप को पूरी जानकारी देंगे, नीचे लिखे लेख को ध्यान पूर्वक अवश्य पढे।

scholarship class 8 to 12

Scholarship Online Form

छात्रवृत्ति के लिए इस बार ना करे ये गलती जो नियम है उसी के आधार पर ही फार्म भरे क्योकि इस बार कक्षा 8 से लेकर कक्षा 12 तक के बच्चो के लिए सरकार ने एक बहुत ही खुशखबरी सुनाई है ।केन्द्री शिक्षा मंत्रालय की ओर से दी जाने वाली राष्ट्रीय आय एवं योग्यता आधारित छात्रवृत्ति के लिए उत्तर प्रदेश के 50 प्रतिशत बच्चो का भी चयन नही हो सका। राजकीय सहायता प्राप्त और स्थानीय निकाय के स्कूलो मे आठवी के छात्र छात्राओ को कक्षा नौ से 12 तक प्रतिमाह एक हजार या प्रतिवर्ष 12 हजार रूपये छात्रवृत्ति दी जाएगी शिक्षा मंत्रालय हर साल देश के एक लाख मेधावियो को यह छात्रवृत्ति देता है। जिसमे यूपी का केटा 15143 है । 2022-2023 सत्र के लिए 24 अप्रैल को आयोजित परीक्षा मे शामिल हुए थे ।परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से शुक्रवार को घोषित परिणाम मे 8152 बच्चे पास है । जिलेवार आवांटिक सीटो के सापेक्ष 6456 मेधावियो का ही चयन हो सका है।

Scholarship Online Form New

निर्धरित सीटो के सापेक्ष कम बच्चो का चयन होने से चिंतित शिक्षा मंत्रालय ने इस साल से अभ्यार्थियो की परिवारिक आय सीमा बढा दी है। अब तक डेढ लाख परिवारिक आय सीमा वाले बच्चे आवेदन कर सकते थे । लेकिन अब आय सीमा 3.50 लाख कर दी गई है।

बेसिक शिक्षा विभाग ने छेडा है अभियान यूपी के लिए तय 15143 बच्चो को छात्रवृत्ति का लाभ दिलाने के लिए इस साल से बेसिक शिक्षा विभाग ने अभियान छेडा है । मनोविज्ञानशाला की निदेशक ऊषा चन्द्रा ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियो को पत्र लिखकर निर्देशित किया है । कि व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए सभी अर्ह बच्चो से आवेदन पत्र भरवाया जाए। आय एवं जाति प्रमाणपत्र समय से पहले बनवा ले , ताकि इसके चलते कोई बच्चा आवेदन से वंचित न होने पाए।

अपने प्रश्न पूछे
frontpage hit counter