UP June Big Bharti : यूपी मे 16 हजार पदो पर बम्पर भर्ती बेरोजगार 18 से 50 वर्ष वालो को मिलेगी नौकरी

अब 16 हजार से अधिक युवाओं को गांव में ही मिलेगा रोजगार योगी सरकार ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत एक वर्ष में स्थापित की जाएगी 800 इकाइयां जिससे कि बताया जा रहा है। कि 16 हजार से अधिक युवाओं को गांव में ही रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। युवाओं को अपना गांव और घर छोड़कर किसी दूसरे शहर में जाने की कोई आवश्यकता नहीं हैं। उन सभी युवाओं को अपने गांव में ही रोजगार प्रदान करेगी योगी सरकार, तो आपको किसी भी परेशानी नहीं होगी। आपको गांव घर में ही रहकर रोजगार प्राप्त होंगें। पूरी जानकारी इसी पोस्ट के माध्यम से विस्तार से पढ़ें।

june big bharti

UP Bharti

उत्तर प्रदेश के युवाओं को रोजगार के लिए गांवों को छोड़ कर शहरों की ओर पलायन न करना पड़े, इसके लिए योगी सरकार लगातार प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत एक वर्ष में 800 इकाइयां स्थापित करने का लक्ष्य है। इसमें 16 हजार से अधिक युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेगें। प्रदेश सरकार ने 2022-23 के बजट में इसके लिए प्रावधान किया है।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि योगी सरकार का लक्ष्य है कि अगले पांच साल में हर परिवार के कम से कम एक सदस्य को रोजगार उपलब्ध कराया जाए। साथ ही रोजगार के लिए युवाओं को अपना गांव घर छोड़कर शहरों की ओर पलायन न करना पड़े। युवाओं को अपने गांव और आस – पास ही रोजगार के अवसर उपलब्ध हों।

UP Gramodyog Rojgar Bharti

प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत एक वर्ष में 800 इकाइयां स्थापित करने जा रही है। इससे 16 हजार से ज्यादा युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। इसके माध्यम से युवा खुद तो रोजगार प्राप्त करेंगे ही, और साथ ही दूसरो को भी रोजगार का अवसर दे सकेंगे। मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत रोजगार अथवा व्यवसाय शूरू करने के लिए 10 लाख रूपये तक रूपये बैंक से लोन उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है। इस योजना का लाभ महिलाएं भी प्राप्त कर सकती है।

आपको बता दें की सरकारी प्रवक्ता के अनुसार योजना के लिए केवल बेरोजगार युवाओं को ही पात्र माना जाएगा, साथ ही उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आवेदक उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र का स्थायी निवासी होना चाहिए। आईटीआई और पॉलीटेक्निक संस्थाओं से तकनीकी प्रशिक्षण में प्राथमिक्ता दी  जाएगी।

अपने प्रश्न पूछे
frontpage hit counter