UP Scholarship 2022 : युपी स्कालरशिप मे 3.5 लाख छात्रो के आवेदन निरस्त जाने प्रमुख कारण

UP Scholarship 2022 : देश छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति योजना के अंतर्गत लाखों की संख्या में अभी हाल ही में 10 जनवरी से पहले अभ्यार्थियों ने छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर दिया था ऐसे में उपलब्ध समय में यूपी स्कॉलरशिप के अंतर्गत कुछ महत्वपूर्ण अपडेट हाथ लगी है ऐसे में विभिन्न प्रकार की जानकारी को हमने नीचे प्रस्तुत किया है अगर आपने उत्तर प्रदेश छात्रवृत्ति में आवेदन किया है तो आप को दी गई जानकारी जरूर पढ़नी चाहिए।

up scholarship form reject

UP Scholarship बडी खबर

छात्रवृत्ति योजना में 3.30 लाख निरस्त होने की खबरें आ रही हैं ऐसे में जाति व आय प्रमाण पत्र नायक और एनडीए ग्रेडिंग ना होने पर कुछ छात्रों को इस योजना के अंतर्गत उनके आवेदन को निरस्त कर दिया गया है छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति योजना में करीब 3.30 लाख कर दिए गए हैं जाति व आय प्रमाण पत्र का मिलाना होने और नायक व एनबीए ग्रेडिंग ना होने से इन्हें योजना के दायरे से बाहर कर दिया गया है समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों के मुताबिक डांटा की जांच मंगलवार सुबह 8:00 बजे इसलिए यह संख्या और बढ़ने की उम्मीद की जा रही है छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति योजना के सत्र 2021-22 मे 56 लाख छात्रों ने आवेदन किया है।

up scholarship latest news

UP Scholarship मे समस्या क्या है

ऑनलाइन आवेदन करने वाले प्रत्येक छात्र का डाटा एनआईसी अपने सॉफ्टवेयर से चेक करती है सोमवार देर रात तक 3:30 लाख जा चुका है विभागीय अधिकारियों के मुताबिक इसके मुख्य कारण पिछले साल का रिजल्ट अपलोड ना करना आय व जाति प्रमाण पत्र का संबंधित वेबसाइट से मिला ना हो पाना और पिछली कक्षा में न्यूनतम अंकों की अर्हता पूरी न कर पाना आधी है इस साल से निजी विश्वविद्यालयों तक तकनीकी संस्थाओं के लिए योजना का लाभ लेने के लिए नेशनल असिस्टेंट एंड स्टेशन काउंसिल ने और नेशनल बोर्ड आफ एक्रीडिटेशन एनबीए की ग्रेडिंग जरूरी है जिन विश्वविद्यालयों और संस्थानों के पास इनकी ग्रेडिंग नहीं है उन छात्रों को भी योजना के दायरे से बाहर कर दिया गया है समाज कल्याण विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सामान्य व अनुसूचित जाति वर्ग के ही 1.70 लाख तथा सभी वर्गों में यह संख्या 3.30 लाख है।

अपने प्रश्न पूछे
frontpage hit counter