SUPER TET : यूपी मे अध्यापक के पदो पर 1.2 लाख पदो पर धमाकेदार सरकारी नौकरी

सवा लाख पद खाली फिर भी कह रहे शिक्षक कम  नही परिषदीय स्कूलो मे स्वीकृत है शिक्षको  के 5,79,622 पद इनमे से 4,53,594 शिक्षक कार्यरत ,1,26,028 पद खाली बेशिक शिक्षा परिषद के 1.50 लाख से  अधिक प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलो मे शिक्षको के सवा लाख से अधिक पद खाली है। लेकिन सरकार कह रही है कि शिक्षको की कमी नही है। उत्तर प्रदेश मे समग्र शिक्षा अभियान की कार्ययोजना और बजट के लिए शिक्षा मंत्रालय मे हुई प्रोजेक्ट अप्रूवल बोर्ड (पीएबी) की बैठक के आंकडे और बेसिक शिक्षा मंत्री की ओर से विधानसभा मे दिए जवाब मे ये विरोधाभासी बात सामने औई है।SUPER TET TEACHER BHARTI

UP Teacher Big Bharti

विधायक डाँ. मुकेश वर्मा के सवाल पर बेसिक शिक्षा मंत्री संदीप सिंह ने मई मे विधानसभा मे दिए जवाब मे परिषदीय प्रथमिक स्कूलो मे कार्यरत 3,32,734 नियमित शिक्षको के साथ 1,47,766 शिक्षामित्रो को भी शिक्षक माना था। इसी प्रकार उच्च प्राथमिक स्कूलो मे कार्यरत 1,20,860 नियमित शिक्षको के साथ 27,555 अंशकालिक अनुदेशको को भी शिक्षक माना था। इस प्रकार मंत्री ने प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलो मे शिक्षक- छात्र अनुपात निः शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार (आरटीई) मानको के अनुरूप बताया था।

UP Teacher Bharti NEWS

जबकी 22जून को जारी 2022-23 सत्र की पीएबी रिपोर्ट के मुताबिक यूपी के परिषदीय स्कूलो मे सहायक अध्यापको और प्रधानाध्यापको के 126028 पद खाली है। पीएबी की रिपोर्ट मे शिक्षको के रिक्त पदो का तथ्य सामने आने के बाद बेरोजगार फिर से नई शिक्षक भर्ती की मांग करने लगे है। उनका कहना है कि बडी संख्या  मे पद खाली होने के बावजूद  चार साल से भर्ती नही आई है।

बेसिक शिक्षा विभाग मे गजब का खेल चल रहा है। सिध्दार्थनगर के अलग-अलग बिद्यालयो मे तैनात 16 शिक्षक व दो शिक्षामित्रो ने दो चार दिन नही ,वर्षो से स्कूल का मुह ही नही  देखा। कोई साल भर से , कोई दो वर्षो से , तो कोई छह-छह साल से स्कूल नही पहुँचा कमाल यह है कि ये फिर  भी सेवा मे बने। ताज्जुब यह है कि इतने वर्ष बाद भी इनकी खिलाफ निलंबन – बर्खास्तगी सहित कोई  कार्रवाई नही हुई। अब विभाग ने इन्हे पत्रावलियो के साथ तलब किया है।

अपने प्रश्न पूछे
frontpage hit counter