UPSSSC Bharti 2019 : Puri Jankari hindi Me UPSSSC Recruitment/Jobs

UPSSSC Recruitment 2019 Uttar Pradesh Subordinate Service Selection Commission Recruitment 2019 इस लेख मे हम आपको Uttar Pradesh Subordinate Services Selection Commission, Lucknow द्वारा उपलब्ध सम्पूर्ण जानकारी को हम आपको हिन्दी भाषा के माध्यम मे बताएगे और सबसे सरल औऱ बेहतरीन जानकारी देने का प्रयास करेगे नीचे हमे UPSSSC से सम्बन्धित जितनी भी जानकारी मिलती रहेगी उससे आपको रुबरु कराते जाएगे लेख को पूर्ण रुप से ध्यान पूर्वक पढे क्योकी यहॉ जल्द ही बहुत सी भर्तीया निकलने जा रही है।

UPSSC Recruitment 2019

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंजूरी के बाद सोमवार को यूपी अधीनस्थ चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) की गठन हो गया है 1981 बैच के रिटायर्ड आईएएस अफसर चंद्रभूषण पालीवाल को इसका अध्यक्ष बनाया गया है। 5 अन्य सदस्यो की भी नियुत्ति की गई है। नियुक्त चेयरमैन पालीवाल ने कहा कि सनूह ग की करीब 65 हजार खाली पदो पर तेजी से भर्तियां उनकी प्राथमिकता है। पालीवाल ने मुख्य सचिव राजीव कुमार से मुलाकात के बाद आयोग के पिकल आँफिस पहुचं कर पदभार ग्रहण किया।

UPSSSC Jobs Qulaification

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) समान योग्यता वाले अलग-अलग पदों के विज्ञापन एक साथ कराने पर विचार कर रहा है। ऐसा होने पर आवेदकों को लोक सेवा आयोग की पीसीएस परीक्षा की तरह पदों की प्राथमिकता का विकल्प देना होगा।
आयोग के चेयरमैन सीबी पालीवाल ने बताया कि विभिन्न विभागों से रिक्त पदों के सापेक्ष भर्तियों के प्रस्ताव (अधियाचन )आए है। आयोग इनका परीक्षण कर रहा है। यह देखा जा रहा है कि कौन-कौन से पद हाईस्कूल योग्यता के हैं, कौन-कौन इंटरमीडिएट व कौन-कौन से स्नातक योग्यता से जुड़े है। समान योग्यता वाले अलग-अलग पदों की लिखित परीक्षाएं ने बताया कि फ्रेश भर्तियां कवल लिखित परीक्षा से होनी है। ऐसे में एक से अधिक पदों से जुड़ी भर्तियों के लिए आवेदन लेते समय विज्ञापित पदों में से विकल्प लिया जाएगा। मसलन, ग्राम्य विकास अधिकारी व ग्राम् पंचायत अधिकारी के पदों की शैक्षिक योग्यता इंटरमीडिएट हैं। देखा जा रहा कि क्या इनकी परीक्षा एक साथ कराई जा सकती है। यदि ऐसा हुआ तो आवेदकों को बताना होगी कि चयन होने पर वह किस पद को लेना पसंद करेंगे।

 UPSSSC VDO Bharti 2019

ग्राम्य विकास अधिकारी (VDO) व ग्राम्य पंचायत अधिकारी (पंचायत सेक्रेटरी ) के करीब 2500 पदों की भर्तियों का विज्ञापन अगले महीने मई में निकालने की तैयारी है। ग्राम पंचायत अधिकारी के करीब 1500 और ग्राम विकास अधिकारी के 900 से अधिक रिक्त पदो का अधियाचन आयोग को मिला है।

जरुर पढे : UPSSSC (10+2) Junior Assistant के आवेदन की पूरी जानकारी हिन्दी मे

UPSSSC News

upsssc 6500 Post Re Exam

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) पिछली सरकार में निकाले गए उन 6500 पदों के लिए लिखित परीक्षा कराने पर विचार कर रहा है जिन पर सिर्फ आवेदन ही लिए गए ते, आगे की कार्यवाही नहीं हुई थी। इससे आवेदन करने वाले 11 लाख से अधिक अभ्यार्थियों को राहत महसूस होगी।

  • सपा शासनकाल में आयोग ने विभिन्न विभागों के करीब 6500 पदों पर भर्ती के लिए 13 अलग-अलग विज्ञापपन निकाले थे।
  • Math Trick Notes PDF Download

इनके लिए आवेदन तो ले लिए गए लेकिन चयन संबंधी लिखित परीक्षा व इंटरव्यू नहीं हो पाए। नई सरकार आई तो उसने सतर्कता अधिष्ठान को आयोग के पिछले कार्यकाल की सभी भर्तियों की जांच आदेश दे दिया । सतर्कता ने पिछले दिनो चयन न होने की वजह से इन upsssc 6500 post को जांच से बाहर करते हुए प्रकरण को आगे की कार्यवाही के लिए आयोग को संदर्भित कर दिया था। आयोग को तय करना है कि इन विज्ञापनों से जुड़ी भर्ती प्रक्रिया रद कर नए सिरे से आवेदन मांगे जाएं या प्राप्तक आवेदन के आधार पर ही चयन कार्यवाही आगे बढाएं। इस संबंध में निर्णय में देरी से इन पदों के लिए आवेदन करने वाले 11 लाख से अधिक आवेदक ऊहापोह में है। आयोग के चेयरमैन सीबी पालीवाल ने बताया कि इन विज्ञापनो में कई तरह की विसंगतियाँ है।मसलन अलग-अलग योग्यता के पदों के एक साथ विज्ञापन निकाले गए। अलग-अलग पे -स्केल वाले पदों को एक ही विज्ञापन में शामिल कर लिया गया । ऐसे में इस पर निर्णय में समय लग रहा है। लेकिन आयोग सिध्दांत रूप में आवेदन से आगे बढ़ने पर सहमत है। पहले यह देखा जा रहा है कि किन-किन पदों के लिए एस साथ परीक्षा हो सकती है और किन-किन के लिए अलग-अलग करानी होगी।एक-एक के बारे में निर्णय लिया जाएगा। इसके बाद आवदकों की लिखित परीक्षा कराई जाएगी।

  • 👉 आठ माह से फंसी थी समूह ग’ की भर्तियाँ
  • 👉 UP – 60 हजार से ज्यादा नौकरियाँ का रास्ता खुला अधीनस्थ चयन आयोग का हुआ गठन
  • 👉 योगी ने युवाओ को दिलाया भरोसा बोले UPSSSC मे हजार सहित इस साल देगे सवा लाख नौकरिया

योगी आदित्यनाथ सरकार आने के बाद अप्रैल मे आयोग के तत्कालीन अध्यक्ष राज किशोर यादव व अन्य सदस्यो ने बबिता लाठर को छोडकर इस्तीफा दे दिया था।  उस समय कई पदो पर भर्ती की प्रक्रिया चल रही थी। कुछ के इंटरव्यू हो रहे थे तो किसी की लिखित परीक्षा होनी थी इस्तीफे के बाद भर्तियां जहा की तहाँ फंस गई। आयोग के गठन के बाद भर्तियाँ जल्द होने की उम्मीद है।

यूपी अधीनस्थ सेवा आयोग UPSSSC की नई टीम का गठन सख्त स्क्रीनिंग के बाद किया गया। शासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया किअधीनस्थ सेवा चयन आयोग के लिए करीब 400 आवेदन छंटनी के बाद सही पाए गए थे।

मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली समिति ने इनकी स्क्रीनिग की समिति ने अध्यक्ष पर के लिए 16 तथा सध्ययो के लिए 40 नामो का पैनल सीएम को भेजा था। मुख्यमंत्री ने इन्ही मे से एक अध्यक्ष व पाच सदस्यो की नियूक्ति को मंजरी दी।

मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने रविवार शाम ही आयोग के गठन को मंजूरी दी थी पलीवाल की चेयरमैन बनाने का खुलासा किया था सोमवार को मुख्य सचिव राजीव कुमार ने सोमवार सुबह आयोग के गठन का विधिवत आदेश जारी किया कर दिया पालीवाल ने मुख्य सचिव से मुलाकात के बाद आयोग के आँफिस पहुच कर पदभार ग्रहण किया।

नए अध्यक्ष की प्राथमिकता जिन पदो पर भर्ती चल रही उन पर सबसे पहले फैसला

नव नियुक्त अध्यक्ष चंद्र भूषण पालीवाल ने एक सवाल के जवाब ने बताया की जिन पदो पर भर्ती की प्रक्रीया चल रही है सबसे पहले उन्हो के बारे मे निर्णय होगा उन्होने बताया कि वह पहले पूरी स्थिति का अध्ययन कर जानेगे कि जिन पदो की भर्ती हो रही थी  वे कि, स्टेज पर है किसी मे् परीक्षा हो गई है साक्षात्कार नही हुए है किसी मे इटंरव्यू हो गए रिजल्ट नही घोषित हुए है। कही प्रैक्टिकल लंबित है इन सभी पर संबधित पद की नियमावली के हिसाब से विर्णय लिया जाएगा।

हम इस भर्ती प्रक्रिया upsssc bharti 2019 के सन्दर्भ मे जितनी भी भर्तीया आयोजित होगी उससे सम्बन्धित सम्पूर्म जानकारी इस लेख के माध्यम से आप तक पहुचाते रहेगे किसी अन्य प्रकार की upsssc jobs से सम्बन्धित जानकारी के लिए हमे नीचे Comment के माध्यम से पूछे सकते है।

error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें