Teacher’s Day: शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है टीचर्स डे, क्या है इस दिन की महत्वपूर्ण बातें

Hello Students, आज कि अपने इस लेख के माध्यम से हम आप को Teacher ‘s Day के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देगे। कि Teacher ‘s Day  क्यो मनाया जाता है। 5 सितम्बर को ही शिक्षक क्यौ मनाया जाता है। तो हम आज इसी Topic  से सम्बन्धित लेख आप के लिए लेकर आयें है।

Teachers Day kyu manaya jata hai

Teacher’s Day Kyu Manaya jata Hai शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है।

हमारे देश भारत में बहुत से महान लोगो ने जन्म लिए और सभी ने हमारे समाज को एक नई दिशा दी तथा हमें आगे बढ़ाने के लिए कुछ न कुछ ऐसे कार्य किये जिनके आदर्शों पर आज भी हम चल रहें है। इन्ही सभी में हमारे देश के दूसरे राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन भी
एक है। जो कि राष्ट्रपति से पहले एक शिक्षक भी थे। जिनके जन्म दिन पर ही शिक्षक दिवस मनाया जाता है। डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन का जन्म 5 सितम्बर को ही हुआ है। इसलिए हम इन्ही के जन्म दिन के दिन शिक्षक दिवस मनातें है।

Teachers Day 5 September शिक्षक दिवस 5 सितम्बर  को ही क्यो मनाया जाता है।

जैसा की सभी लगभग सभी लोग जानते है कि पहेले के समय में शिक्षक के स्थान पर गुरू हुआ करते थें। लेकिन आज उन्ही गुरू को शिक्षक कहा जाने लगा।  जो स्कूल से लेकर कॉलेज तक अपने छात्रों को हर वह शिक्षा देते हैं जो उन्हें समाज में और उनके करियर में बुलंदियों तक पहुंचाने के काम आती है। वैसे तो शिक्षक हमें हमेशा ही  ज्ञान, जानकारियां और अनुभव देते है, लेकिन एक दिन ऐसा भी है। जब छात्र अपने गुरु यानी शिक्षक को तोहफा देते हैं। इसे शिक्षक दिवस यानी Teacher ‘s Day के तौर पर मनाया जाता है। डा. सर्वपल्‍ली राधा कृष्णन का जन्मदिन 5 सितंबर को हुआ डॉक्टर सर्वपल्ली राधकृष्णन एक महान अध्येता, दार्शनिक और आधुनिक भारत के शिक्षक थे। वो 1962 में भारत के दूसरे राष्ट्रपति बने। वे चाहतें थे कि मेरे जन्म दिने के साथ पूरे देश भर में लाखों अनजान शिक्षकों को सम्मान मिले इसलिए उनके जन्म दिन  के दिन ही शिक्षक दिवस मनाया जाता है। ये उनकी इच्छा थी कि हर साल 5 सितंबर को उनका जन्मदिन मनाने के बजाय पूरे भारत में शिक्षक दिवस के रुप में इस दिन को मनाना ज्यादा बेहतर होगा।

शिक्षक दिवस Teacher’s Day On Social Media

सोशल मीड़िया आज के समय में इतना आगे जा रहा है कि जब कोई भी त्यौहार, किसी महापुरूष कि जयन्ती आने वाली होती है। तो सोशल मीड़िया पर पहले से ही फोटो, वीडियो, या उससे सम्बन्धित अन्य जानकारी आने लगती है। तो फिर 5 सितम्बर यानी शिक्षक दिवस सोशल मीड़िया से कैसे छूट सक्ता है। आज कल अधिकतर सोशल मीडिया के द्वारा Students अपने Teachers को Teacher ‘s Day कि बधाई देते है। सोशल मीड़िया के द्वारा वे Students भी अपने Teachers को बधाई देतें है। जो अपने Teachers से काफी दूर रहतें है। क्यों कि जिन बच्चों का School छूट जाता है उनके लिए सोशल मीडिया सबसे अच्छा तरीका है। इस कारण सोशल मीडिया आज के समय में भी Teacher ‘s Day मनाने का बहुत ही अच्छा माध्यम है।

सर्वपल्ली राधा कृष्णन कौन थे? Sarvapalli Radha Kriashan Kaun Hai

डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन जन्म: 5 सितंबर 1888; मृत्यु: 17 अप्रैल, 1975) स्वतंत्र भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति थे। उन्होंने डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद की गौरवशाली परम्परा को आगे बढ़ाया। उनका कार्यकाल 13 मई, 1962 से 13 मई, 1967 तक रहा। उनका नाम भारत के महान् राष्ट्रपतियों की प्रथम पंक्ति में सम्मिलित है। उनके व्यक्तित्व और कृतित्व के लिए सम्पूर्ण राष्ट्र इनका सदैव ऋणी रहेगा। डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म तमिलनाडु के तिरूतनी ग्राम में, 5 सितंबर 1888 को हुआ था। इनका जन्मदिवस 5 सितंबर आज भी पूरा राष्ट्र ‘शिक्षक दिवस’ के रूप में मनाता है। डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के ज्ञानी, एक महान् शिक्षाविद, महान् दार्शनिक, महान् वक्ता होने के साथ ही साथ विज्ञानी हिन्दू विचारक थे। डॉक्टर राधाकृष्णन ने अपने जीवन के 40 वर्ष एक शिक्षक के रूप में व्यतीत किए थे। वह एक आदर्श शिक्षक थे।

Students, हमारी यह Post ” Teacher’s Day: शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है टीचर्स डे, क्या है इस दिन की  महत्वपूर्ण बातें’‘आपको कैसी लगी लगी आप हमें Comment के माध्यम  से आप बता सकते है। और जो कुछ भी आप को और जरूरत हो इसके लिए भी आप हमें Comments कर सकते है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

1 Comment
  1. LALIT suman says

    Corporative society Kya hoti hai

error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें