Advertisement

Banaras Hindu University BHU का इतिहास

आज के अपने इस लेख में हम आपकों Banaras Hindu University, के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देंगे कि, बनारस हिन्दू युनिवर्सिटी की स्थापना कब की गयी थी? Banaras Hindu University History का इतिहास क्या है? बनारस हिन्दू विश्व विद्यालय में होने वाले कोर्स और सुविधायें की जानकारी साथ ही हम आपको बतायेंगे कि Admission कैसे मिलता है, इससे सम्बन्थित महाविद्यालय तथा विद्यालय, प्रमुख संस्थान और संकाय के बारें पूरी जानकारी दे रहें है। तो पूरी जानकारी के लिए  आप हमारे द्वारा लिख गये इस लेख को पढ़ सकतें है।

banarash hindu university

Banaras Hindu University

बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय को BHU के नाम से भी जाना जाता है। इस विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना पंडित मदन मोहन मालवीय के द्वारा की गई थी, जो एक देशभक्‍त, समाज सुधारक, शिक्षाविद् और राजनीतिक कार्यकर्ता थे,जिन्‍होने अपना जीवन समाज के उत्‍थान के लिए समर्पित कर दिया था। बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय की आधारशिला 4 फरवरी, 1916 को लॉर्ड हॉर्डिंग के द्वारा रखी गई थी, जो तत्‍कालीन वायसराय था। बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय में 20 हजार से ज्‍यादा छात्र पढ़ते है और यहां 60 से ज्‍यादा हॉस्‍टल है। इस विश्‍वविद्यालय को एशिया का सबसे बड़ा आवासीय विश्‍वविद्यालय माना जाता है। वास्‍तव में, इसे पूरब का ऑक्‍सफोर्ड कहा जाता है। बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय का मुख्‍य परिसर 1300 से अधिक एकड़ में फैला हुआ है। BHU को बनाने के लिए वाराणसी के शासक ने भूमि को दान किया था। बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय का एक और कैम्‍पस है जो मिर्जापुर जिले में बारकच्‍छा नामक जगह पर मुख्‍य परिसर से 60 किमी. की दूरी पर स्थित है। विश्‍वविद्यालय में मुख्‍य चार इंस्‍टीट्यूट है जिनमें 14 शिक्षण संकाय और 140 विभाग शामिल है। Banaras Hindu University में पूरी दुनिया से लगभग 34 देशों के छात्र शिक्षा ग्रहण करने आते है। 

Banaras Hindu University History

जनवरी, 1906 ई. में कुंभ मेले में मालवीय जी ने त्रिवेणी संगम पर भारत भर से आई जनता के बीच अपने संकल्प को दोहराया। कहा जाता है, वहीं एक वृद्धा ने मालवीय जी को इस कार्य के लिए सर्वप्रथम एक पैसा चंदे के रूप में दिया। डॉ. एनी बेसेंट काशी में विश्वविद्यालय की स्थापना में आगे बढ़ रही थीं। इन्हीं दिनों दरभंगा के राजा महाराज ‘रामेश्वर सिंह’ भी काशी में ‘शारदा विद्यापीठ’ की स्थापना करना चाहते थे। इन तीन विश्वविद्यालयों की योजना परस्पर विरोधी थी, अत: मालवीय जी ने डॉ. बेसेंट और महाराज रामेश्वर सिंह से परामर्श कर अपनी योजना में सहयोग देने के लिए उन दोनों को राजी कर लिया। फलस्वरूप ‘Banaras Hindu University Society‘ की 15 दिसंबर, 1911 को स्थापना हुई, जिसके महाराज दरभंगा अध्यक्ष, इलाहाबाद उच्च न्यायालय के प्रमुख बैरिस्टर ‘सुंदरलाल’ सचिव, महाराज ‘प्रभुनारायण सिंह’, ‘पं. मदनमोहन मालवीय’ एवं ‘डॉ. ऐनी बेसेंट’ सम्मानित सदस्य थीं।

Banaras Hindu University Courses

Advertisement

परिसर के भीतर 14 अलग-अलग संकाय हैं। इनमें एक महिला कॉलेज, इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेस, कृषि संकाय भी शामिल हैं। विश्वविद्यालय में छह विषयों के एडवांस्ड स्टडी सेंटर भी हैं। ये विषय हैं बॉटनी, जुलोजी, मेटलर्जी, इलेक्ट्रॉनिक्स, भौतिकी और माइनिंग। विश्वविद्यालय में 49 छात्रावास हैं, जिनमें से 35 लड़कों के लिए और 14 लड़कियों के लिए हैं। कई नए छात्रावास भी निर्माणाधीन अवस्था में हैं। यहाँ के इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी की तुलना आईआईटी से की जाती है। प्रवेश भी आईआईटी की परीक्षा में प्रदर्शन के आधार पर होता है। यह संस्थान 16 कोर्स उपलब्ध कराता है। इनमें Computer Electrical , Electronic, एप्लाएड फिजिक्स, एप्लाएड Mathematics और एप्लाएड Chemistry भी शामिल हैं। Engineering कोर्स काफ़ी लोकप्रिय हैं और यहाँ के मेटलर्जी व माइनिंग कोर्स तो देश में सबसे अच्छे माने जाते हैं। मेडिकल संस्थान में प्रवेश के लिए अखिल भारतीय स्तर पर प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। इसके अतिरिक्त तीन साल के कला व समाज विज्ञान बीए व बीएसएसी डिग्री कोर्स की पढ़ाई होती है।

Recommended Testbook

20+ Free Mocks For RRB NTPC & Group D Exam Attempt Free Mock Test
10+ Free Mocks for IBPS & SBI Clerk Exam Attempt Free Mock Test
10+ Free Mocks for SSC CGL 2020 Exam Attempt Free Mock Test
Attempt Scholarship Tests & Win prize worth 1Lakh+ 1 Lakh Free Scholarship

BHU Entrance Exam

Advertisement

BA, BSC, B.Com, LLB प्रवेश परीक्षाओं के लिए बारहवीं में 45 फीसदी औसत अंक के साथ उत्तीर्ण होना ज़रूरी है। स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए स्नातक स्तर पर 48 फीसदी अंकों के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए। इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए अच्छी तैयारी की ज़रूरत होती है।

BHU से संबन्धित महाविद्यालय

  1. महिला महाविद्यालय,लंका,वाराणसी
  2. वसंत कन्या महाविद्यालय, वाराणसी
  3. बसंत कॉलेज, राजघाट, वाराणसी
  4. डी.ए.वी. कॉलेज, वाराणसी
  5. आर्य महिला डिग्री कालेज, चेतगञ्ज,वाराणसी
  6. राजीव गांधी दक्षिणी परिसर बरकच्छा, मिर्जापुर

BHU से संबन्धित विद्यालय

  1. रणवीर संस्कृत विद्यालय
  2. केन्द्रीय हिन्दू विद्यालय, वाराणसी
  3. केन्द्रीय हिन्दू कन्या विद्यालय, वाराणसी

BHU से सम्बन्धित प्रमुख संस्थान

  1. चिकित्सा विज्ञान संस्थान
  2. कृषि विज्ञान संस्थान
  3. पर्यावरण एवं संपोष्य विकास संस्थान
  4. भारतीय प्रौद्यौगिकी संस्थान
  5. प्रबन्ध शास्त्र संस्थान
  6. विज्ञान संस्थान

BHU में संकाय

  1. आयुर्वेद संकाय
  2. संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय
  3. संगीत एवं मंच कला संकाय
  4. दृश्य कला संकाय
  5. कला संकाय
  6. वाणिज्य संकाय
  7. शिक्षा संकाय
  8. विधि संकाय
  9. सामाजिक विज्ञान संकाय

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें