Advertisement

IAS Motivation Story बचपन से आंखों की रोशनी नही फिर भी बने IAS Officer

PDF Notes Current Affairs Group Click Here 

IAS Success Story मे आज की कहानी है, IAS Rakesh Sharma जी की जिनकी बचपन में ही ऑखो की रोशनी चली गई थी पर उनके अथक प्रयास से IAS Officer बने और आज Indian Administrative Service मे आधिकारी के पद पर नियुक्ति पाकर देश की सेवा करे रहे है, ऐसे काबिल और अत्यन्त सराहनीय व्यक्ति की इस छोटी सी कहानी पर ध्यान देते है, इनकी कहानी आप नीचे पढे जो की काफी ज्यादा रोचक है।

ias rakesh singh

IAS Motivation Story

IAS Officer बनने का सपना किसे नही होता है, पर कुछ ऐसे व्यक्ति होते है, जिनको IAS अधिकारी बनने के लिए ही जैसे इस पृथ्वी पर भेजा गया हो, इन्ही मे से एक ऐसी कहानी है, Rakesh Sharma जी की जिनकी ऑखो की रोशनी न होते हुए भी इन्होने अपनी पढाई के बल बुते पर कुछ ही प्रयास मे एक सफल आईएस अधिकारी के पद पर नियुक्ति प्राप्त की राकेश शर्मा की कहानी उन विद्यार्थियो के लिए एक प्रेरण बन सकती है, जिन्हे अपनी मेहनत और काबीलियत पर पूर्ण विश्वास है, मुश्किलों से जूझते नौजवानों और घर की परेशानी हर किसी को होती है, जैसे साल 2018 में राकेश शर्मा ने Civil Service Exam क्रैक की। बचपन मे इनकी आखो पर ड्रग्स रिएक्शन हुआ था जिसकी वजह से इनकी ऑखे तो ठीक थी पर इन्हे दिखाई देना बिल्कुल से बन्द हो गया था। फिर इन्होने अपनी पढ़ाई ब्रेल लिपी से पूरी की जो की अन्धे व्यक्तियो के लिए पढाई करने की एक भाषा है, बचपन में जब उनकी आंखों की रोशनी चली गई थी लोगों ने उनके माता-पिता को कहा कि वो राकेश को आश्रम में छोड़ आए फिर भी उन्होंने हिम्मत नहीं छोड़ी, आंखों की रोशनी न होने पर भी सिविल सर्विस की परीक्षा में 608 रैंक हासिल किया।

दिए गए शेयर बटन की मदद से इस कहानी को किसी अन्य को जरुर शेयर करें और यह कहानी आपको कैसे लगी हमे नीचे कमेंट मे जरुर बताए।

Related Post
अपने प्रश्न पूछे
x
error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें