SBI Bank Bad News एसबीआई वालो को झटका एटीएम कार्ड है, तो जानलो 350 लगेगा अब

एसबीआई बैंक ने अभी हाल ही में एक बहुत ही बड़ा झटका लोगों को दिया है क्योंकि भारतीय स्टेट बैंक में ज्यादातर सेवाएं फ्री रहती हैं वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जिनका अगर ₹40 या ₹50 बैंक काट भी लेती है तो उन्हें बहुत ही ज्यादा समस्या होने लगती है इसलिए अभी हाल ही में भारतीय स्टेट बैंक में डेबिट कार्ड वालों को बहुत ही बड़ा झटका दिया अगर आपके पास भी किसी भी प्रकार का एसबीआई बैंक का कोई कार्ड है तो यह खबर आपको जरूर ध्यान देनी चाहिए।

sbi bank bad news
sbi bank bad news

SBI बैंक वालो को झटका

एसबीआई बैंक ने अभी हाल ही में अपने डेबिट कार्ड पर एनुअल मेंटेनेंस चार्ज को बढ़ा दिया है पहले या चार्ज बहुत ही काम हुआ करते थे लेकिन अब इसमें 1 अप्रैल 2024 से ₹75 अधिक देने होंगे कार्ड पर लगने वाले मेंटेनेंस चार्ज पहले भी लगते थे लेकिन पहले के रेट में बढ़ोतरी 75 रुपए की की गई है जिसके जीएसटी भी जोड़ा गया है इसलिए कार्ड के एनुअल मेंटेनेंस चार्ज 175 रुपए से बढ़कर ₹250 प्लस जीएसटी कर दिया गया है।

  • एसबीआई प्लेटटिनम कार्ड पर चार्ज की बात करें तो 250 प्लस जीएसटी से बढ़कर ₹325 प्लस जीएसटी पर कर दिया गया है।
  • वही प्रीमियम कार्ड यानी कि बिजनेस कार्ड जिसे 350 रुपए पहले था उसमें बड़ा करके ₹425 प्लस जीएसटी कर दिया गया।

SBI कार्ड के चार्ज मे बढोत्तरी

अब 75 रुपए बढ़ाने के साथ-साथ 18% जीएसटी भी ग्राहकों से वसूला जाएगा यह सभी नए नियम कानून एक अप्रैल 2024 से सभी कार्ड पर लागू होंगे। अंतर्राष्ट्रीय सेवाओं में भी एटीएम पर बैलेंस अगर आप चेक करेंगे तो प्रति बैलेंस चेक करने पर आपको ₹25 प्लस जीएसटी चार्ज देना होगा जो आपके खाते से काटे जाएंगे वहीं अंतर्राष्ट्रीय सेवाओ में अगर आप ₹100 तक विड्रोल करते हैं तो 3.30रुपये के साथ साथ जीएसटी चार्ज भी आपको देना होगा।

वहीं ई-कॉमर्स सर्विसेज पर 3% का जीएसटी ट्रांजैक्शन अमाउंट देना वही बैंक ने अभी हाल ही में 1 अप्रैल 2024 से कुछ क्रेडिट कार्ड के लिएमिलने वाले पॉइंट्स को भी बंद कर दिया जाएगा अगर आपका भी एसबीआई बैंक में खाता है या किसी अन्य का खाता है और उनके पास किसी भी प्रकार का कोई कार्ड है तो कृपया इस लेख को उन्हें जरूर शेयर करें ताकि बैलेंस कटने पर मेंटेनेंस चार्ज काटने पर उन्हें यह पता रहे कि हमारे जो पैसे कटे हैं और किस पर्पस से कटे हैं और क्यों काटे।

Join Telegram GroupJoin Now
WhatsApp GroupJoin Now

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.