UP Bijli Bill NEWS : उत्तर प्रदेश बिजली बिल और कनेक्शन पर सरकार का बडा ऐलान 19 जिलो मे नया नियम

UP Bijli Bill New Update : योगी सरकार ने बिजली बिल से लेकर बिजली से संबंधित सभी खर्च होने वाली धनराशि के लिए बडे नियम भी लागू किए है। जो सभी बिजली उपभोक्ताओ को जानना बहुत ही जरूरी है। क्योंकि सरकार ने बिजली बिल मे दी सभी को बडी राहत भरी खबर तो चलिए दोस्तो आज हम इस लेख की मदद से आपको उत्तर प्रदेश बिजली बिल मे मिली राहत के बारे मे पूरी जानकारी देंगे की कैसे मिलेगी बिजली बिल से राहत नीचे लिखे लेख को ध्यान पूर्व अवश्य पढे।

UP BIJLI NEW UPDATE
UP BIJLI NEW UPDATE

जाने इस पोस्ट में क्या क्या है

UP Bijli Bill

दोस्तो बिजली विभाग की तरफ से सभी बिजली उपभोक्ताओ के लिए बडी राहत भरी खबर निकल कर सामने आ चुकी है. ऐसे मे उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी बिजली बकाया राशि को दे सकती है बडी राहत। उत्तर प्रदेश की बिजली कंपनिया अब बडे उपभोक्ताओ के कनेक्शन तथा बिजली से संबंधित अन्य कार्यो मे सिर्फ सुपरविजन के आधार पर कार्य के पूरे एस्टीमेट मे जीएसटी नही लगेगी। बिजली कम्पनियां सिर्फ सुपरविजन चार्ज मे जीएसटी लगा सकती है।

तो ऐसे मे उत्तर प्रदेश सरकार के इस फैसले से सभी बिजली उपभोक्ताओ को बिजली कनेक्शन तथा अन्य कार्यो मे खर्च होने वाली बडी धनराशि की बचत होगी। अभी यह नियम सिर्फ पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम मे लागू किया गया है। तो ऐसे बिजली कनेक्शन मे लगने वाले धनराशि मे भी राहत मिली है कनेक्शन वालो को अब आसानी से मिल सकेगा बिजली कनेक्शन।

UP Bijli Bill Connection New Rules

उत्तर प्रदेश के केवल अभी 19 जिलों में बिजली कनेक्शन को लेकर नियमों में बदलाव किए गए हैं। अभी यूपी के बहुत से जिले बाकी हैं जहां पर बिजली कनेक्शन के नियमों में बदलाव करना जरूरी है। 19 जिलों में अब कॉमर्शियल बिजली कनेक्शन बहुत ही आसानी से प्राप्त कर पाएंगें। पहले एलडीए के द्वारा बनाए गए नियम में कहा था कि बिजली लेने के लिए सबसे पहले लोगों को अपने घरों व मकानों का नक्शा पास करना होगा इसके पश्चात ही विद्युत कनेक्शन दिया जाएगा। इस तरह से जो घर अवैध तरीके बने हुए थे व उन घरों के नक्शे पास नहीं कराए गए थे। वहां पर बिजली कनेक्शन लेने में कई प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा था।

Join Telegram GroupJoin Now
WhatsApp GroupJoin Now

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.