Join Telegram GroupJoin Now
WhatsApp GroupJoin Now

Raksha Bandhan 2023 : रक्षाबंधन 30 या 31 अगस्त को है, जाने कब राखी बाँधना शुभ माना जाएगा

Raksha Bandhan 2023रक्षा बंधन भाई बहन के प्रेम का प्रतीक है। यह त्योहार बहुत ही पौराणिक समय से मनाया जा रहा है। इसके पीछे कई प्रकार की कहानी भी है। जिस कारण से बहन अपने भाईयों को राखी बांधती है। परंतु इस बार रक्षा बंधन के त्योहार को लेकर लोगों में कई प्रकार के कनफ्युजन बना हुआ है। क्योंकि इस बार रक्षा बंधन 30 और 31 अगस्त को लेकर असमंजस बना हुआ है। क्योंकि इस बार 30 और 31 अगस्त को भद्रा को लेकर लोगों में कनफ्युजन बना हुआ है कि किस दिन राखी बांधी जाए। शुभ मुहुर्त क्या रहने वाली है, बहने अपने भाईयों कि किस समय राखी बांधे कौन सा समय ब्रह्म मुहुर्त रहेगा।

rakshabandhan new date
rakshabandhan new date

Raksha Bandhan 2023

आपको बता दें कि रक्षा बंधन का त्यौहार भाई बहन का त्योहार है। इस दिन बहने अपने भाईयों को रक्षा सूत्र बांधती हैं। भद्रा काल में राखी बांधना अशुभ होता है। इसी कारण से समय और मुहुर्त को मानना बहुत ही जरूरी होता है। और साथ मे यह भी जानना बहुत ही जरूरी होता है कि भद्रा काल कब से कब तक रहेगा। क्योंकि भद्रा काल में राखी बांधना अशुभ माना जाता है। इसी लिए इस काल में बहने अपने भाईयों को राखी न बांधे। इसके पीछे एक पौराणिक कथा है जिसमे एक बार रावण ने अपनी बहन से भद्रा काल में राखी बधंवाई थी। और एक वर्ष में ही रावण का विनाश हो गया था। असल में भद्रा कौन है आपको बता दें कि भद्रा शनि देव की बहन हैं जिन्हें ब्रह्मा जी ने श्राप दिया था कि भद्रा के सयम में शुभ कार्य करने पर विघ्न होगा। और सभी कार्य अशुभ होंगें।

Raksha Bandhan Important Date

अगर आप 30 अगस्त यानी सावन की पूर्णिमा के दिन ही राखी बांधना चाहते हैं तो आपके लिए 30 अगस्त की रात का समय ठीक है। 30 अगस्त को रात 8ः57 मिनट के बाद आप कभी भी राखी बांध सकते हैं। अगर आप 31 अगस्त को राखी बांधना चाहते हैं। तो सुबह 7ः45 तक राखी बांधने का शुभ मुहुर्त है। अगर सावन मास की पूर्णिमा तिथि 30 अगस्त बुधवार को सुबह 10ः13 मिनट से आरम्भ हो रही है, लेकिन इसके साथ भद्रा होने के कारण रक्षाबंधन भद्रा में नहीं मनाया जा सकता है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.