INDIAN HISTORY : Bharat Ke Parmukh Yudh भारत के प्रमुख युद्ध की पूरी जानकारी

Hello Students, भारतीय इतिहास Indian History के बारे मे जहॉ तक मेरा मानना है, कम्पटीशन के छात्र सबसे पहले इस Topic को मजबूत करते है, यह Topic कक्षा 5 से सिखाया एवं पढाया जाता है, पर अगर इन नीचे दिए गए महत्वपूर्ण प्रश्नो को समय समय से दोहराया न जाए तो इन्हे दोबारा याद करने मे बहुत बडी समस्या पैदा हो जाती है, क्योकि प्रत्येक परीक्षा मे यहॉ से 1 या 2 Question जरुर पूछे जाते है। तो नीचे दिए गए भारतीय इतिहास के प्रमुख यूद्ध कब और किसके बीच हुए और सन क्या था कौन कौन से राजा थे क्या रिजल्ट निकला आदि की पूरी जानकारी हाईडेस्पीज का युद्ध, कलिंग की लड़ाई, सिंध की लड़ाई, तराईन का प्रथम युद्ध आदि बहुत से युद्धो को नीचे दिए गए Table मे सही और साफ साफ प्रदर्शित किया गया है।Indian History pramukh yudh kab aur kinke beech

भारतीय इतिहास के प्रमुख युद्ध कब और किसके बीच 

समययुद्ध का नामकिस-किस के बीच हुए
326हाईडेस्पीज का युद्धसिकंदर और पंजाब के राजा पोरस के बीच जिसमे सिकंदर की विजय हुई।
261कलिंग की लड़ाईसम्राट अशोक ने कलिंग पर आक्रमण किया था और युद्ध के रक्तपात से विचलित होकर उन्होंने युद्ध न करने की कसम खाई
712सिंध की लड़ाईमोहम्मद कासिम ने अरबों की सत्ता स्थापित की।
1191तराईन का प्रथम युद्धमोहम्मद गौरी और पृथ्वी राज चौहान के बीच हुआ था। चौहान की विजय हुई।
1192तराईन का द्वितीय युद्धमोहम्मद गौरी और पृथ्वी राज चौहान के बीच| इसमें मोहम्मद गौरी की विजय हुई।
1194चंदावर का युद्धइसमें मुहम्मद गौरी ने कन्नौज के राजा जयचंद को हराया।
1526पानीपत का प्रथम युद्धमुग़ल शासक बाबर और इब्राहीम लोधी के बीच।
1527खानवा का युद्धइसमें बाबर ने राणा सांगा को पराजित किया।
1529घाघरा का युद्धइसमें बाबर ने महमूद लोदी के नेतृत्व में अफगानों को हराया।
1539चौसा का युद्धइसमें शेरशाह सूरी ने हुमायु को हराया।
1540कन्नौज (बिलग्राम का युद्ध)इसमें फिर से शेरशाह सूरी ने हुमायूँ को हराया व भारत छोड़ने पर मजबूर किया।
1556पानीपत का द्वितीय युद्धअकबर और हेमू के बीच।
1565तालीकोटा का युद्धइस युद्ध से विजयनगर साम्राज्य का अंत हो गया क्यूंकि बीजापुर, बीदर,अहमदनगर व गोलकुंडा की संगठित सेना ने लड़ी थी।
18 जून, 1576 ई.हल्दी घाटी का युद्धहल्दीघाटी का युद्ध मुग़ल बादशाह अकबर और महाराणा प्रताप के बीच लड़ा गया था। अकबर और राणा के बीच यह युद्ध महाभारत युद्ध की तरह विनाशकारी सिद्ध हुआ था। ऐसा माना जाता है कि इस युद्ध में न तो अकबर जीत सका और न ही राणा हारे। अन्त में यूद्ध अनिर्णायक रहा। (विकिपीडिया के अनुसार)
1757प्लासी का युद्धअंग्रेजो और सिराजुद्दौला के बीच, जिसमे अंग्रेजो की विजय हुई और भारत में अंग्रेजी शासन की नीव पड़ी।
1760वांडीवाश का युद्धअंग्रेजो और फ्रांसीसियो के बीच, जिसमे फ्रांसीसियो की हार हुई।
1761पानीपत का तृतीय युद्धअहमदशाह अब्दाली और मराठो के बीच। जिसमे फ्रांसीसियों की हार हुई।
1764बक्सर का युद्धअंग्रेजो और शुजाउद्दौला, मीर कासिम एवं शाह आलम द्वितीय की संयुक्त सेना के बीच। अंग्रेजो की विजय हुई। अंग्रेजो को भारत वर्ष में सर्वोच्च शक्ति माना जाने लगा।
1767-69प्रथम मैसूर युद्धहैदर अली और अंग्रेजो के बीच, जिसमे अंग्रेजो की हार हुई।
1780-84द्वितीय मैसूर युद्धहैदर अली और अंग्रेजो के बीच, जो अनिर्णित छूटा।
1790तृतीय आंग्ल मैसूर युद्धटीपू सुल्तान और अंग्रेजो के बीच लड़ाई संधि के द्वारा समाप्त हुई।
1799चतुर्थ आंग्ल मैसूर युद्धटीपू सुल्तान और अंग्रेजो के बीच , टीपू की हार हुई और मैसूर शक्ति का पतन हुआ।
1849चिलियान वाला युद्धईस्ट इंडिया कंपनी और सिखों के बीच हुआ था जिसमे सिखों की हार हुई।
1962भारत चीन सीमा युद्धचीनी सेना द्वारा भारत के सीमा क्षेत्रो पर आक्रमण। कुछ दिन तक युद्ध होने के बाद एकपक्षीय युद्ध विराम की घोषणा। भारत को अपनी सीमा के कुछ हिस्सों को छोड़ना पड़ा।
1965भारत-पाक युद्धभारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध जिसमे पाकिस्तान की हार हुई। भारत पाकिस्तान के बीच शिमला समझौता हुआ।
1971भारत-पाक युद्धभारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध जिसमे पाकिस्तान की हार हुई। फलस्वरूप बांग्लादेश एक स्वतन्त्र देश बना।
1999कारगिल युद्धजम्मू एवं कश्मीर के द्रास और कारगिल क्षेत्रो में पाकिस्तानी घुसपैठियों को लेकर हुए युद्ध में पुनः पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा और भारतीयों को जीत मिली।


तो केैसी लगी हमारी यह जानकारी आप इसे नीचे दिए गए Whatsapp, Facebook Button की मदद से किसी दुसरे को Share कर सकते है।

Note: अगर आप अपनी तैयारी और नौकरी को पाने के लिए Serious है, तो हमारे Facebook Page को Like करे तथा हमारे Facebook Group को Join करे जिससे तैयारी को सही तरक्की मिल सके, और अगर आपके पास Android Mobile है, तो हमारे Apps को Download करे।

 

Join Our Facebook Group (Click here)

error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें