Navodaya Vidyalay नवोदय विद्यालय की तैयारी कैसे करें

Navodaya Vidyalay की तैयारी कैसे करें। Jawahar Navodaya Vidyalaya की पूरी जानकारी हिन्दी में। दोस्तो आज हम आप को Navodaya Vidyalay से सम्बन्धित जानकारी देंगे की नवोदय विद्यालय की स्थापना कब की गयी। नवोदय विद्यालय में प्रवेश कैसे मिलता है। नवोदय विद्यालय की परिक्षा की तैयारी कैसे करें, नवोदय विद्यालय में सीटें कितनी होती है। नवोदय विद्यालय के लिए कितने बार प्रवेश परिक्षा दें सकतें है। आदि से सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी के लिए हमारे इसे लेख को ध्यान से पढ़ें और हमें बतायें की हमारी यह जानकारी आप को कैसी लगी।

जवाहर नवोदय विद्यालय की तैयारी की पूरी जानकारी हिन्दी में

Navodaya Vidyalaya नवोदय विद्यालय

जवाहर नवोदय विद्यालय भारत सरकार के मानव विकास मंत्रालय द्वारा चलाई जाने वाली पूरी तरह से निःशुल्क परियोजना है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 के तहत एेसे आवासाीय विद्यालयों की स्थापना की गयी जिन्हें Jawahar Navodaya Vidyalaya नाम दिया गया। जो ग्रामीण प्रतिभाशाली बच्चों को आगे लाने का उत्तम प्रयास है। इस परियोजना का मुख्य लक्ष्य गांव-गांव तक उत्तम शिक्षा पहुचाना है। हर जिले में एक नवोदय विद्यालय होता है। जो पूर्णतः हर तरीके से निःशुल्क होतें है। जैसे- आवास, भोजन, शिक्षा, खेलकूद की सामाग्री आदि सभी निःशुल्क ब्यवस्था बच्चों के लिए होती है।

About Of Jawahar Navodaya Vidyalaya

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत 1986 भारत सरकार ने जवाहर नवोदय विद्यालय प्रारंभ किए थे। प्रत्येक जिलों में आवासीय विद्यालयों की अवधारणा के लिए एक ”नई शिक्षा नीति” 1986 के अंतर्गत लायी गयी जिसे नवोदय विद्यालय नाम दिया गया। सर्वप्रथम 2 नवोदय विद्यालय खोले गयें अब वर्तमान में कुल 565 नवोदय विद्यालय हो गयें है। वर्तमान में जवाहर नवोदय विद्यालय २७ राज्यों और ७ संघ शासित राज्यो मे चल रहें है। यह सह शिक्षा आवासीय विद्यालय है, जिन्हे एक स्वयं संगठन कहतें  है।, नवोदय विद्यालय समिति के ज़रिए भारत सरकार द्वारा संचालित संपूर्ण वित्तीय सहायता प्राप्त हैं। नवोदय विद्यालयों में प्रवेश, जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा के मध्यम से कक्षा 6 में किए जाते हैं। इन विद्यालयों में कक्षा 8 तक शिक्षा का माध्यम मातृभाषा अथवा क्षेत्रीय भाषा हैं और इसके बाद से Math और Science के लिए English Medium और Social Science के लिए Hindi medium हैं। Jawahar Navodaya Vidyalaya के छात्र केंद्रीय माधामिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 10 और 12 की परीक्षा में सम्मिलित होते हैं। याद्दपि इन विद्यालयों के छात्रों को नि:शुल्क आवास, भोजन, गणवेश, एवं पाठ्यपुस्तक प्रदान की जाती हैं, परंतु कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों से शुल्क के रूप में प्रति माह रु 200 रू. लिए जातें है। परंतु अनुसूचित जाति, जनजाति, बालिकाओं शारीरिक विकलांग, एवं उन छात्रों से जिनके अभिभावक ग़रीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करते हैं, को इस शुल्क से छूट प्रदान की गयी हैं।

Navodaya Vidyalaya Admission Details

  1. जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश पाने के लिए बच्चे को 5th Class पास होना चाहिए। तभी बच्चा नवोदय विद्यालय के लिए फार्म भऱ सकता है।
  2. फार्म भरने के बाद Entrance Exam होता है। यदि बच्चा Entrance Exam में पास होता है। तभी उसका नाम नवोदय विद्यालय में नाम लिख जायेंगा अन्यथा नहीं लिख जायेंगा।
  3. आपको बता दूं कि नवोदय की प्रवेश परीक्षा में केवल एक चांस ही मिलता है, कोई भी अभ्यर्थी किसी भी परिस्थिति में दूसरी बार इस चयन परीक्षा में बैठने के योग्य नहीं है। यह सभी कैटेगरी के छात्रों पर लागू होता है।

Navodaya Vidyalaya Syllabus

  • परीक्षा में 100 अंक और 80 प्रश्न होंगे।
  • परीक्षा के लिए समय की अवधि 02 घंटे होगी।
  • नेगेटिव मार्क्स नहीं होंगे!
  • दिव्यांग छात्रों को अतिरिक्त समय.

परीक्षा में 100 अंको का विभाजन

  • मानसिक क्षमता टेस्ट – 50 अंक  – 60 मिनट
  • अंकगणित टेस्ट 25 अंक – 30 मिनट
  • भाषा परीक्षण 25 अंक – 30 मिनट

मानसिक क्षमता का परीक्षण (Mental ability Test)

यह एक गैर मौखिक परीक्षा है। प्रश्न केवल आंकड़े और आरेखों पर आधारित हैं। प्रश्न उम्मीदवारों के सामान्य मानसिक कार्यों का आकलन करने के लिए हैं।

अंकगणित परीक्षण (Arithmetic Test)

इस परीक्षा का मुख्य उद्देश्य अंकगणित में उम्मीदवार की बुनियादी दक्षताओं को मापना के लिए है।

  • संख्या और संख्यात्मक प्रणाली
  • पूरे नंबर पर चार मौलिक संचालन
  • आंशिक संख्या और उन पर चार मौलिक संचालन।
  • उनके गुणों सहित कारक और कई।
  • एलसीएम और संख्या के एचसीएफ
  • उन पर दशमलव और मौलिक संचालन।
  • फ्रैक्टि ऑन के रूपांतरण को दशमलव और उपाध्यक्ष के विपरीत।
  • माप लंबाई, द्रव्यमान, क्षमता, समय, धन आदि में संख्याओं के अनुप्रयोग
  • दूरी, समय और गति
  • अभिव्यक्ति का सृजन।
  • संख्यात्मक अभिव्यक्तियों का सरलीकरण,
  • प्रतिशत और उसके अनुप्रयोग
  • लाभ और हानि।
  • साधारण ब्याज।
  • परिधि, क्षेत्र और मात्रा
  • भाषा परीक्षण (Language Test)

Navodaya Vidyalaya Entrance Exam

  1. यदि बच्चा 4th Class में पढ़ता है तो तभी से इसकी तैयारी शुरू करवा दें।
  2. चयन परीक्षा के लिए कुछ प्रकाशको द्वारा अच्छी पुस्तकें प्रकाशिकत की गयीं है। कम से कम दो अभ्यास पुस्तकों का अभ्यास करवायें।
  3. पहले बच्चे का गणित और भाषा के आधार को मजबूत बनायें।
  4. चयन परिक्षा में समय का महत्व होता है। साथ ही तीनों खण्ड़ यानी तर्क शक्ति, हिन्दी भाषा और गणित तीनों में न्यूनतम अंक पाना बेहद जरूरी होता है।
  5. प्रायः देखा जाता है। की बच्चा एक या दो ही खण्ड़ में उलझ कर रह जाता है। दोनों खण्ड़ में अच्छें अंक अर्जित किये लेकिन आखिरी खण्ड़ को छू भी नही पाता है। और चयन होने से वंचित रह जाता है।
  6. जब बच्चे को अभ्यास करवायें तो ध्यान रखें कि तीनों खण्ड़ो के प्रश्नों को हल करने का प्रायस करें। क्यों कि माइनस मार्किंग होता नही है। तो यदि कोई प्रश्न नही आ रहा है तो उसे अनुमान के आधार पर उत्तर को चयनित करें। आपको आश्चर्य होगा कि कभी-कभी कमजोर छात्रों का भी चयन हो जाता है। इसका कारण यह है। की वे सभी प्रश्नों को हल करने का प्रयास करतें है। और जो नही भी आता है। तो उसे भी करके आतें है।
  7. अभ्यास करवाते समय बच्चों का आदत ड़ाले कि सबसे पहले जो प्रश्न एक ही झलक में आ रहें हो उन्हे ही सही करें। तथा सही उत्तर का चयन करें। दूसरे प्रयास में छूटे प्रश्नों को हल करें तथा अंतिम समय में जो प्रश्न नहीं समझ में आ रहें है उनको अनुमान लगाकर सहीं उत्तर का चयन करें।
  8. प्रायः देखा जाता है कि बालक गणित को बहुत अधिक ध्यान देते है, जब की तर्क शक्ति और भाषा में कम। बच्चे के मन में धारणा बनी रहती है। की सबसे पहले गणित को हल करों और सभी प्रश्नों को हल करें। गणित के प्रश्नों को हल करने के चक्कर में बांकी दो खण्ड़ों के लिए समय कम बचता है। जबकि सभी खण्ड़ों के प्रश्नों के अंक समान अंक के होतें है। इसलिए सभी खण्ड़ों को ध्यान से हल करें और सभी को बराबर महत्व दें।
  9. इस सभी बातों के साथ-साथ आप बच्चे की जाति और निवास पहले से तैयार करवा लें कभी- कभी इनके कारण भी परेशानी होती है।

Navodaya Vidyalya Total Seats

नवोदय विद्यालय में कक्षा 6 के लिए वर्ष 2016-2017 में लगभग 42 हजार सीटें थी और उम्मीद है कि इन सीटों की संख्या में कुछ बढोंतर हुआ है । प्रत्येक Navodaya Vidyalya में कक्षा 6 के लिए अधिकतम 80 एवं न्यूनतम 40 छात्रों का एडमिशन होता है।कक्षा 5 के विद्यार्थियों के लिये प्रवेश परीक्षा होती है एवं प्रत्येक जिले से 80 छात्रों का चयन किया जाता है। नवोदय विद्यालयों में 75 प्रतिशत ग्रामीण और 25 प्रतिशत शहरी बच्चों को प्रवेश दिया जाता है।

Andhra Pradesh 22+2 Kerala 14
Assam 27+1 Lakshadweep 01
Arunachal Pradesh 16 Madhya Pradesh 48+2
Andaman & Nicobar Islands 02 Maharashtra 32+1
Bihar 38 Manipur 09
Chandigarh 01 Meghalaya 07+1
Chattisgarh 16 Mizoram 08
Delhi 02 Nagaland 11
Daman & Diu 02 Orissa 30
Dadra & Nagar Haveli 01 Punjab 20+1
Goa 02 Pondicherry 04
Gujarat 25+1 Rajasthan 32+1
Haryana 20 Sikkim 04
Himachal Pradesh 12 Tripura 04
Jammu & Kashmir 17 Uttar Pradesh 70
Jharkhand 22+1 Uttaranchal 13
Karnataka 27+1 West Bengal 17
TOTAL 576+12**=588

Zone wise JNV Result 2018 Links

  • Chandigarh :http://nvsrochd.gov.in/
  • Hyderabad : http://www.navodayahyd.gov.in/
  • Jaipur : http://nvsjpr.googlepages.com/
  • Lucknow : http://nvsrolko.org/
  • Patna : http://nvspatna.bih.nic.in/
  • Pune : http://nvsropune.gov.in/
  • Shillong : http://nvsroshillong.gov.in/

तो कैसी लगी आपको हमारी यह Navodaya Vidyalay नवोदय विद्यालय की तैयारी कैसे करें” इसके बारे मे हमे  बताए तथा किसी प्रकार की अन्य नोट्स या जानकारी चाहिए तो नीचे कमेंट करके जरुर पूछे। तथा नीचे दिए गजरुरए Facebook, Whatsapp Button के माध्यम से इसे किसी अन्य को भी Share कर सकते है

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

1 Comment
  1. Yogendra Singh says

    एक नई जानकारी दी धन्यवाद

error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें