सर्वनाम और इसके भेद (हिन्दी व्याकरण)

Hello Students, आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको सर्वनाम और इसके भेद के बारे में जानकारी देंगे कि सर्वनाम किसे कहतें है। सर्वनाम कितने प्रकार के होते है। आदि से सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी के लिए हमारे इस लेख को ध्यान से पढ़े।

Sarvnam ki paribhasa

सर्वनाम अर्थात् सबका नाम। जो शब्द सभी नामों के स्थान पर प्रयुक्त हो सकतें है, वे सर्वनाम कहलाते है।

सर्वनाम कि परिभाषा

”संज्ञा के स्थान पर आने वाले शब्दो को सर्वनाम कहते है।”

जैसे– मैं, हम, तुम, आप, वह, कोई, कुछ, कौन, क्या, जो, सो आदि।

उदाहरण-

सपना का विवाह हो गया। सपना के पति का नाम अपना है। सपना की पुत्री का नाम कल्पना है। सपना नौकरी करती है। सपना का कार्यालय पुलिस लाइन्स के निकट है। सपना ने कार खरीद ली। सपना कार से कार्यालय जाती है।

उपर्युक्त वाक्यों में सपना बार-बार आया है। इसके स्थान पर सर्वनाम को प्रयोग हुआ तो भाषा में सुन्दरता आ गई।

सर्वनाम के प्रकार

सर्वनाम छः प्रकार के होतें है।

  1. पुरुष वाचक सर्वनाम (Personal Pronoun)
  2. निश्चय वाचक सर्वनाम (Definite Pronoun)
  3. सम्बन्ध वाचक सर्वनाम (Indefinite Pronoun)
  4. प्रश्न वाचक सर्वनाम (Relative Pronoun)
  5. निजवाचक सर्वनाम (Reflexive Pronoun)

पुरूष वाचक सर्वनाम (Personal Pronoun)

पुरूष वाचक सर्वनाम स्त्री या पुरूष के नाम के बदले आते है। इसके बोलने वाले, सुनने वाले और जिसके विषय में बात होती है, उनके लिए प्रयोग में लाये जाने वाले सर्वनाम पुरूषवाचक सर्वनाम कहलातें है। जैसे- मैं, हम, तुम, आप, वह, वे आदि। इसके तीन भेद है-

  1. उत्तम पुरूष (First Person)
  2. मध्यम पुरूष (Second Person)
  3. अन्य पुरूष (Third Person)

उत्तम पुरूष (First Person)

जिन सर्वनाम का प्रयोग बोलने या लिखने वाला व्यक्ति एवं अपने लिए करता है, उन्हे उत्तम पुरूष वाचक सर्वनाम कहते है।

जैसे– मैं, मेरा, मैने, हमने, हमारा, हम, हमसे आदि।

उदाहरण

मैं वहाँ जाऊँगा।

मैंने उसका गाना सुना।

हमनें पत्र लिखा।

हम चलेंगे।

मध्यम पुरूष (Second Person)

जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग सुनने वाले के लिए किया जाता है, उन्हे मध्यम पुरूष वाचक सर्वनाम कहतें है।

जैसे– तू, तुम, आप, (तुमने, तुम्हारा, आप, आपने आपके)

उदाहरण

तुम्हारा गाना सुन रहा हूँ।

तुम कहोगे तो आऊँगा।

तुमने ठीक ही सुना।

अन्य पुरूष (Third Person)

जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग वक्ता के या श्रोता किसी अन्य व्यक्ति के लिए करता है तो उसे अन्य पुरूष वाचक सर्वनाम कहतें है।

जैसे– वह, वे, यह, उस, उन्, इस, इन आदि।

उदाहरण

वह आकर सो गई।

वे उधर जा रहे थे।

उन्हें खाना खिला दो।

निश्चयवाचक सर्वनाम ( Definite Pronoun)

जिन सर्वनाम शब्दो से किसी निश्चित वस्तु अथवा व्यक्ति का बोध हो तो उन्हे। निश्चयवाचक सर्वनाम कहतें है। यह, वह, वे

जैसे

वह मेरा घर है।

यह मेरी कार है।

वे फल उधर रख दो।

रोटी मत खाओ क्योंकि वह जाली है। आदि।

अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Indefinite Pronoun)

जिस सर्वनाम शब्द से किसी निश्चत व्यक्ति वस्तु या घटना का बोध न हो, उन्हें अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं।

जैसे– कोई, कुछ, किसी आदि।

उदाहरण

दरवाजे पर कोई खड़ा है।

दूध में कुछ गिर गया है।

कोई उस और गया।

किसी ने कूड़ा फेंका।

सम्बन्धवाचक सर्वनाम (Relative Pronoun)

दो शब्दों के परस्पर सम्बन्ध का बोध कराने वाले शब्द, सम्बन्धवाचक सर्वनाम कहलातें है।

जैसे– जो, सो, जैसा, जिसने, उसने आदि।

उदाहरण-

जिसकी लाठी, उसकी भैंस।

जैसा बोओगे, वैसा काटोगे।

जैसी करनी, वैसी भरनी।

जो बोले सो निहाल।

प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun)

जिन सर्वनाम शब्दों से किसी प्राणी, व्यक्ति वस्तु आदि के विषय में प्रश्न किया जाता है, उसे प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते है।

उदाहरण-

तुम्हारा क्या नाम है।

बाजार से क्या लाये हो।

फोन पर कौन- बोल रहा है।

इस घर की चाभी किसके पास है।

नोट– कौन का प्रयोग किसी प्राणी का चेतन जीवों के लिए। क्या का प्रयोग किसी वस्तु या अचेतना के लिए होता है।

निजवाचक सर्वनाम (Reflexive Pronoun)

जो सर्वनाम कर्ता के साथ अपनत्व दर्शाने के लिए किए जाते है उन्हे निजवाचक सर्वनाम कहते है।

जैसे– स्वयं, खुद, अपने आप आदि।

उदाहरण-

वे अपने आप लौट आयेंगें।

वह खुद चला आयेगा।

वह स्वयं अपना काम कर लेगा।

उसने अपने आप को धोखा दिया।

Students, हमारी यह Post “सर्वनाम और इसके भेद (हिन्दी व्याकरण)”आपको कैसी लगी लगी आप हमें Comment के माध्यम  से आप बता सकते है। और जो कुछ भी आप को और जरूरत हो इसके लिए भी आप हमें Comments कर सकते है।

error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें