Student Good NEWS : गणित विषय वाले भी बन सेकेगे डाक्टर 2 नए नियम छात्रो के लिए खुशखबरी

Student Good NEWS : 12वीं पास स्टूडेंटस के लिए दो बड़े अपडेट निकल कर आ रहे हैं। देखिए, पहला तो यह है कि बारहवीं में अगर आपने बायोलोजी साइंस नहीं ली है तो भी अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। अब बिना साइन्स भी भी डॉक्टर बन सकते हैं। जी हाँ, डॉक्टर बनने के नियम में बदलाव कर दिया है। यानी की नेशनल मेडिकल कमिशन की तरफ से अभी अभी ये नई गाइडलाइन्स जारी की गई है। सिंह ने नीट यूजी के एलिजिबिलिटी क्राइटिरिया में ये चेंजेज किए हैं। यानी की 12 वीं में बायोलोजी नहीं भी होगी, फिर भी आप NEET का एग्ज़ैम दे पाएंगे। विज्ञान के स्टूडेंट भी नीट यूजी एग्ज़ैम दे सकेंगे की तरफ से नई गाइडलाइन्स में क्या क्या बातें कही गई है, आइए देख लेते हैं।

STUDENT GOOD NEWS FOR MEDICAL
STUDENT GOOD NEWS FOR MEDICAL

Student Good NEWS

अब देश में युवाओं के लिए डॉक्टर बनना और भी आसान होगा। डॉक्टरों की कमी दूर हो सके, देश से स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतर सुविधाएं मिल सकें और बारहवीं में बिना साइंस वाले स्टूडेंटस को भी डॉक्टर बनने की अपॉर्चुनिटी मिल सके इसलिए सरकार की तरफ से चुनावी माहौल के बीच ये कुछ नए नियम जारी किए गए हैं। पहले आपको पता होगा डॉक्टर बनने के लिए आपको दसवीं बाद 11 वीं में साइंस बायो लेना जरूरी होता है लेकिन अब ये जरूरी नहीं होगा। जो बच्चे ग्यारहवीं, बारहवीं में मेथेमैटिक्स से पढ़ाई करेंगे यानी की साइंस, मैथ्स भी ले रखी है तो भी आपको भविष्य में मेडिकल कोर्स में ऐडमिशन लेने और डॉक्टर बनने का मौका मिलेगा।

डाक्टर बनने के लिए 2 नए नियम लागू

नई गाइडलाइन्स के मुताबिक ग्यारहवीं बारहवीं में पीसीबी यानी की फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलोजी या पीसीएम यानी की फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स दोनों स्ट्रीम के स्टूडेंट अब नीट यूजी की परीक्षाओं में शामिल हो सकेंगे और ये नया नियम इसी सत्र से लागू होने जा रहा है। यानी की अब जो 2024 में का एग्जाम होगा उसके एलिजिबिलिटी क्राइटिरिया में यह बदलाव किया गया है। हालांकि जो PCM से बारहवीं पास करेंगे यानी की फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स से स्टूडेंट्स को एडिशनल सब्जेक्ट के तौर पर बायोटेक्नोलॉजी की परीक्षा देना जरूरी होगा। बाकी 12 वीं में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स भी नीट यूजी का एग्जाम दे पाएंगे। ये देख सकते हैं एग्ज़ैम से संबंधित कुछ जानकारी आप एज लिमिट कम से कम 17 साल होनी चाहिए।

डाक्टर बनने के लिए पात्रता मे बदलाव

मार्क्स अनारक्षित के लिए कम से कम 50%, बारहवीं ने ओबीसी, एससी, एसटी के लिए कम से कम 40% और पीडब्ल्यूडी के लिए 40% क्वालिफिकेशन मार्क्स होना जरूरी है। तभी आप नीट यूजी के लिए एलिजिबल होंगे। अच्छा इसके लिए सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। ऐसे उम्मीदवारों को इलिजिबिलिटी सर्टिफिकेट देने का फायदा यह होगा कि नीम के इस सर्टिफिकेट से है स्टूडेंट विदेश में भी ग्रैजुएट मेडिकल कोर्स में ऐडमिशन ले पाएंगे। तो मैं तो स्ट्रीम के स्टूडेंट होंगे ना उनको अब विदेशों में भी डॉक्टरी की पढ़ाई करने का मौका मिलेगा। ठीक है तो इंडिया में भी एलिजिबल होंगे और विदेश में भी एलिजिबल होंगे। और अगले सेशन से ही ये दोनों ने लागू हो जाएंगे।

ज्यादा इन्फॉर्मेशन इस बारे में आप NEET की आधिकारिक पोर्टल पर चेक कर लीजियेगा और एक अपडेट ये भी है। डॉक्टर बनने के लिए नीट यूजी के सिलेबस में भी बदलाव किया गया। फिजिक्स में दो केमिस्ट्री में तीन टॉपिक्स बढ़ाए गए हैं। ये अब नीट यूजी 2024 एक में फिज़िक्स के टॉपिक्स होंगे, जिनकी लिस्ट आप देख सकते हैं और ये केमिस्ट्री के सारे टॉपिक्स होंगे ऑर्गैनिक, फिजिकल और अलग अलग तरह की कैटगरी के केमिस्ट्री में और एग्ज़ैम के लिए बायोलोजी के टॉपिक्स क्या क्या होंगे ये भी आप देख सकते हैं। ये इस साल सिलेबस में भी बदलाव किया गया और ये नियम में भी बदलाव किया गया। उम्मीद है ये इम्पोर्टेन्ट अपडेट आपको जरूर जानें।

आप अपने परिवार, मित्रों, दोस्तों के सभी बारहवीं पास स्टूडेंटस के साथ इस खबर को जरूर शेयर कीजियेगा। फेसबुक और वॉट्सऐप पर है, साथ ही इस वीडियो को शेयर करना जरुरी है।

Join Telegram GroupJoin Now
WhatsApp GroupJoin Now
Avatar

मै आशुतोष मिश्र पत्रकारिता में 7 साल का अनुभव है, दैनिकजागरण, अमरउजाला के साथ कार्य का अनुभव SarkariHelp.com पर प्रतिदिन समाचार, न्यूज, खबरे, योजना, फाइनेंस आदि पर लेख लिखते है।