Graphic Designing Course in Hindi (ग्रैफिक डिजाइनिंग) Details, Institute, Fees, Jobs

Graphic Designing Course से सम्बन्धित Graphic Design Institute, Collages के बारे मे विद्यार्थियो को कम जानकारी होगी तथा साथ ही साथ Graphic Designing Course Kaise Kare, Fees के अलावा सबसे मुख्य टापिक  Graphic Designing Jobs कहॉ पर मिलेगी तथा इस क्षेत्र मे Career कैसा है, इस बारे मे नीचे हम सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी मे विस्तार से बताएगे इसलिए सम्पूर्ण लेख को ध्यानपूर्वक पढे तथा किसी प्रकार के प्रश्न के लिए नीचे Comment करके ग्रैफिक डिजाइनिंग कोर्स के बारे मे पूछे।graphic designing

Graphic Designing Course

देश में कई ऐसे सेक्टर हैं जो लगातार विस्तार की प्रक्रिया में हैं। रोजगार देने के मामले में भी इनका कोई सानी नहीं है। ग्राफिक डिजाइनिंग का क्षेत्र भी उन्हीं में से एक है। आह हम जो भी लुभावने Poster, Outlet, Hording व Cartoon आदि देखते हैं वे सभी Graphic Designer की मेहनत का परिणाम है। यह डिजाइनिंग के क्षेत्र की एक महत्वपूर्ण शाखा है क्योंकि इसमें डिजाइन के बलबूते ही सफलता का पैमाना लिखा जाता है। इसमें दैनिक जीवन में प्रयोग होने वाली वस्तुओं की डिजाइन से लेकर फिल्म इंडस्ट्री व वेबसाइट पर अधिकांश काम Graphic Designing की मदद से संभव हो रहे हैं।

जरुर पढे : Fashion Designing Course

एक समय ऐसा था जब “ग्राफिक डिजाइनिंग” से संबंधित अधिकांश काम विदेश में कराए जाते थे। लेकिन तकनीक विकसित हो जाने से अब लगभग सभी काम यहीं पर हो रहे हैं। हर साल यह इंडस्ट्री तेजी से विस्तार कर रही है। आज स्थिति यह है कि डिजाइनिंग के करीब 20 प्रतिशत भाग पर (ग्राफिक डिजाइनिंग) का कब्जा है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि 2022 तक यह इंडस्ट्रीक सफलता के उच्च पायदान पर होगी। इस दौर तक आते आते डिजाइनरों की मांग में दोगुने वृध्दी हो जाएगी।

Graphic Designing Course in Hindi

यदि Graphic Designing ग्राफिक डिजाइनिंग का वर्तमान परिदृश्य देखें तो कार से लेकर सुई तक, पैकेजिंग, फिल्मों में सेट डिजाइनिंग आदि अनेकों कार्य उसी के जरिए संपन्न हो रहे हैं। इसमें आने वाले छात्रों को कई बिन्दुओं पर अपना ध्यान केन्द्रित करना पड़ता है। क्योंकि एप्लीकेशन रोजाना बदलते जा रहे हैं। उन्हें आत्मसात करके ही आगे बढ़ा जा सकता है। आर्ट का ज्ञान, क्रिएटिविटि तथा इस क्षेत्र में गूढ़ रूझान इन तीनों के बिना Graphic Designer बनना मुश्किल कार्य है। एक सामान्य DTP Course के बाद छात्र जहां 8 से 10 हजार रूपये प्रतिमाह कमाता है।

वहीं Graphic Designer Course कर लेने के बाद Salary 20 से 25 हजार रूपये प्रतिमाह तक पहुंच जाती है। लोगों का मानना है कि भारत की अपेक्षा विदेशों की डिजाइनिंग बेहतर है। जबकि वास्तविकता यह है कि यहां भी कई तरह के इनोवेशन एवं प्रैक्टिकल किए जा रहे हैं तथा खुद यहां आने वाले विदेशियों को यह प्रभावित करता है। भारत में Career in “Graphic Designing” के बारे में यही कहा जा सकता है कि इस क्षेत्र में हर जगह इनवेस्टमेंट हो रहा है। इसके चलते डिजाइनरों की मांग बढ़ती जा रही है।

Graphic Designing Course Details

इसमें फाउंडेशन कोर्स से छह माह से लेकर तीन साल तक के डिग्री कोर्स बाजार में मौजूद हैं। योग्यता के रूप में छात्रों को बारहवीं को परीक्षा पास होना अनिवार्य है। तभी आगे चलकर संभावनाएं सामने आती हैं। स्नातक एवं परास्नातक के बाद कई डिप्लोमा एवं पीजी डिप्लोमा कोर्स कराए जाते हैं Graphic Designing Course Duration अवधि एक वर्ष से लेकर 2 वर्ष तक होती है। जब कि 12वीं के बाद 12 माह से लेकर 36 माह तक के पाठ्यक्रम हैं। कई संस्थान तीन – तीन माह के कोर्स भी संचालित कर रहे हैं।

हर कदम पर नई चुनौती – भीड़ में अपनी पहचान बनाने के लिए छात्रों को अपनी सोच सकारात्मक रखनी होगी। तभी कुछ अलग तरीके की थीम निकलकर सामने आ सकेगी। इसमें हर कदम पर नई चुनौती सामने आती है। क्लाइंट व ग्राहक को संतुष्ट कर पाना आसान काम नहीं होता। लेकिन रचनात्मक के बूते प्रोफेशनल्स नई इबारत लिख रहे हैं। आज दिन प्रतिदिन नए डिजाइनों का आगमन हो रहा है, जो कि इन्हीं Graphic Designing की देन है। आपके क्लाइंट का रूख भी समय के साथ बदलता रहता है। उनकी डिमांड को ध्यान में रखते हुए डिजाइन सामने लानी पड़ती है।

Graphic Designing Projects

पाठ्यक्रम से दौरान छात्रों को प्रमुख डिजाइनरों के बारे में अवगत कराने से लेकर कंप्यूटर द्वारा उनके अनुप्रयोग संबंधी जानकारी प्रदान की जाती है। इसके अंतर्गत कई तरह के सॉफ्टवेयरों की जानकारी दी जाती है। विज्ञापन एजेंसियों में एड का लेआउट बनाने, पोस्टर, बैनर डिजाइन करने, कार्टून तैयार करने, फिल्मों में प्रोडक्शन संबंधी मदद तथा वेबसाइट पर वेब पेज की डिजाइनिंग आदि सभी ज्ञान छात्रों को पाठ्यक्रम के दौरान दिया जाता है। इसमें थ्योरी के साथ – साथ प्रैक्टिकल की भरपूूर जानकारी दी जाती है। कोर्स समाप्त होने के बाद छात्रों को प्रमुख डिजाइनिंग स्टूडियो व एजेंसी में इंटर्नशिप के लिए भेजा जाता है।

Graphic Designing Jobs

Graphic Designing का कार्यक्षेत्र काफी फैला हुआ है। शर्त यही है कि प्रोफेशनल्स को डिजाइलनिंग की अच्छी समझ होनी चाहिए। क्योंकि बिना अच्छी जानकारी के बेहतर डिजाइन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। आज सबसे अधिक संभावनाए एंड एजेंसी, प्रिंट इंडस्ट्री, वेब डिजाइनिंग इंडस्ट्री आदि में सामने आ रही है। इंटरनेट पर नित्य नए प्रयोग किए जा रहे हैं, हर चीज का प्रजेंटेशन आकर्षक होता जा रहे हैं। ग्राहकों को लुभाने के लिए यह अहम कड़ी साबित हो रही है। इलेस्ट्रेशन, कैरीकेचर तथा कार्टून हर अखबार की पसंद में शामिल हैं। इसके अलावा कई पत्र- पत्रिकाओं से लेकर प्रोडक्शन हाउसों, एड एजेंसियों एवं फ्रीलांसिंग का कार्य किया जा सकता है। ऐसे में कहना गलत न होगा कि इसका कार्यक्षेत्र असीम है।

Graphic Designing Salary

यदि आपकी क्रिएटिविटी जबरदस्ट है तो आप लाखों में खेल सकते हैं। जॉब से लेकर फ्रीलांसिंग में पैसे का बोलबाला है। शुरूआती दौर में ट्रेनी Graphic Designing को 10 – 15 हजार रूपये, जूनियर ग्राफिक डिजाइनर को 15 से 20 हजार रूपये, सीनियर या एक दो साल का अनुभव हो जाने पर 20 से 25 हजार रूपये, आर्ट डायरेक्टर को 30 से 35 हजार रूपये तथा डिजाइनर हेड को 60 से 70 हजार रूपये प्रतिमाह आसानी से मिल जाते हैं। जबकि फ्रीलांसिंग करने वाले को प्रति मिनट के हिसाब से चार्ज किया जाता है। यदि अपना काम कर रहे हैं तो आपकी आमदनी काफी कुछ काम के स्वरूप पर निर्भर करती है।

Graphic Designing Institute

  • एपीजे इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइनिंग, नई दिल्ली – www.apeejay.edu
  • एरिना एनिमेशन, नई दिल्ली –  www.arena-multimedia.com

( देश में कई जगह शाखाएं मौजूद )

  • सृष्टि स्कूल ऑफ डिजाइन, बैंगलौर – www.srishti.ac.in
  • टीजीसी एनिमेशन एंड मल्टीमीडिया, नई दिल्ली – www.tgcindia.com
  • सिम्बियोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, पूणे – www.symbiosisdesign.ac.in
  • आईआईएलएम स्कूल ऑफ डिजाइन, गुरूग्राम – www.iilm.in

Graphic Designing Software

Graphic Designing Jobs Category

  • Junior Graphic Design
  • Senior Graphic Designer सीनियर ग्राफिक डिजाइनर
  • Art Director आर्ट डायरेक्टर
  • Design Head डिजाइन हेड
  • Visualizer
error: कृपया उचित स्थान पर क्लिक करें